Yoga Tips : पेट की चर्बी के साथ दिमाग भी होगा तीज, इन 5 योगासन से करें दिन की शुरुआत

Yoga Tips :- योगासन करने से हमारा  शरीर और मन स्वस्थ रहता है इसके नियमित अभ्यास से आप लंबे समय तक निरोगी जीवन व्‍यतीत कर सकते हैं। योगासन एक बेहतरीन शारीरिक गतिविधि है, जो आपके मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाते हैं, वैसे तो योगासन के सभी आसन जरूरी हैं, लेकिन सुबह-सुबह सर्वांग पुष्टि और सूर्य नमस्कार आसन को विशेष माना जाता है। इन दोनों आसनों का एक सीक्वेंस है, Yoga Tips इनका सही तरीके से अभ्यास करने से पेट और कमर की चर्बी कम होती है और वजन घटाने में मदद मिलती है, Yoga यही नहीं, आपके कमर के पुराने दर्द को भी ये आसानी से दूर करने में मदद कर सकता है।  हालांकि अगर दर्द बहुत ज्‍यादा है तो इसका अभ्‍यास ना करें

आइए जानते हैं सर्वांग पुष्टि और सूर्य नमस्कार के लाभ और अभ्यास करने का तरीका – Yoga Tips

Free photo group of three young sporty people sitting in sukhasana pose

ऐसे करें सर्वांग पुष्टि आसन का अभ्‍यास :- सर्वांग पुष्टि आसन का अभ्यास करने के लिए सबसे पहले अपने मैट पर खड़े हो जाएं। इसके बाद दोनों पैर फैलाकर कमर गर्दन सीधा करते हुए खड़े हो जाएं. अब मुट्ठी बांधें और इस तरह बंद करें कि अंगूठा दिखाई ना दे. अब दोनों हाथों की मुट्ठी बनाकर बायां हाथ नीचे और दाहिना हाथ कलाई के ऊपर रखते हुए गहरी सांस लेते हुए दोनों हाथों से ऊपर की ओर ले जाएंगे. फिर सांस लेते हुए पी‍छे की तरफ जहां तक हो सके झुकें. अब सांस छोड़ते हुए दाहिनी ओर मुड़कर मुट्ठी को तलवे तक सटाएं और घुटनों से नाक सटाकर रखें. इसके बाद सांस भरते हुए हाथ का पोजीशन चेंज करते हुए अब बाए हाथ को आगे रहें और सांस लेते हुए पीछे की तरफ झुक जाएं. फिर सांस लेते हुए बाई तरह झुकें. अब पूरा चक्र दोहराएं. ऐसा आप 10 चक्र से शुरू कर सकते हैं. अभ्‍यास उतना ही करें जितना आप कर सकते हैं. हालांकि, आप नियमित अभ्‍यास से संख्‍या बढ़ा सकते हैं

सर्वांग पुष्टि अभ्यास के फायदे :- नियमित सर्वांग पुष्टि आसन का अभ्यास करने से शरीर पर जमा अतिरिक्त फैट तेजी से कम होता है। इसके अलावा कमर के आसपास की चर्बी तेजी भी पिघलने लगती है. इससे कमर में लचीलापन आता है और शरीर की मांसपेशिया मजबूत होती हैं. इस आसन को नियमित करने से आप फिट और हेल्‍दी रहते हैं. इसको आप अपनी क्षमता के अनुसार घटा-बढ़ा भी सकते हैं।

सर्वांगासन के 10 चमत्कारी फ़ायदे | Sarvangasana Benefits

सूर्य नमस्कार का ऐसे करें अभ्यास :- इस अभ्यास को करने के लिए आप अपने मैट पर कमर, गर्दन सीधा कर खड़े हो जाएं. दोनों हथेलियों को मिलाएं और प्रणाम की मुद्रा बनाएं. उगते सूर्य की लालिमा को ध्‍यान में रखें. गहरी सांस लें और प्रार्थना करें. अब दोनों हाथों को उठाते हुए सिर के ऊपर ले जाएं और कमर से पीछे की तरफ झुकने का प्रयास करें. इसके बाद सांस छोड़ते हुए दोनों हाथों को उठाकर आगे लाएं और नीचे की तरफ पूरी तरह से झुकें और हाथों से पैरों की उंगलियों को छूने का प्रयास करें. कमर में दर्द है तो आप 90 डिग्री एंगल तक ही झुकें. पैरों के पास हथेलियों को मैट पर रखें और नाक घुटनों से सटाएं. यहीं से गहरी सांस लेते हुए दाहिना पैर पीछे की तरफ ले जाएं और घुटनों को जमीन पर रखें.

How to do surya namaskar and know its benefits सभी योग में सर्वश्रेष्ठ है  सूर्य नमस्कार, जानिए इसे करने का तरीका और इसके फायदे

Yoga Tips : पेट की चर्बी के साथ दिमाग भी होगा तीज, इन 5 योगासन से करें दिन की शुरुआत

सिर को ऊपर की तरफ उठाते हुए आसमान की ओर देखें. फिर धीरे से गहरी सांस लेते हुए बाया पैर भी पीछे ले जाएं और शरीर को आगे की तरफ सीधा करें. अब पुशअप करने की अवस्था में आ जाएं. कुछ देर होल्‍ड के बाद धीरे से हथेलियों के बीच सीना मैट पर सटाएं, घुटने भी मैट से सटे रहेंगे. इसी अवस्‍था में होल्‍ड रहें. गहरी सांस लें और छोड़ें. अब हथेलियों को मैट पर रखते हुए दोनों हाथों के बीच से शरीर के अगले हिस्‍से को आगे की तरफ उठाकर रखें. इसके बाद दोनों पैरों और हाथों को मैट पर रखें और कूल्हे को ऊपर की ओर उठाएं. अपने कंधों को सीधा रखते हुए अपनी नाभी की तरफ देखें. हालांकि विस्‍तार से देखने के लिए वीडियो लिंक पर क्लिक करें.

 सूर्य नमस्कार आसन के लाभ :- अगर आप कम समय में सूर्य नमस्कार से चौंकाने वाले लाभ प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप 5-10 बार सूर्य नमस्कार के अभ्यास के साथ शुरुआत करें और इस अभ्यास को 100 बार तक ले जाएं. अगर आप सावधानी के साथ ऐसा करेंगे, तो कम समय में आप जीरो फिगर का टारगेट हासिल कर सकते हैं. सूर्य नमस्कार के अभ्यास में आपके शरीर की मांसपेशियां, हाथ पैर समेत कई अंग शामिल होते हैं. इससे मांसपेशियों में वृद्धि हो सकती है और शरीर की संरचना में सुधार हो सकता है. यह अभ्यास कार्डियोवैस्कुलर स्वास्थ्य में सुधार करने, मेटाबॉलिज्म को बढ़ावा देने और वजन घटाने में मदद कर सकता है. हालांकि सूर्य नमस्कार के साथ पोषक तत्वों से भरपूर डाइट लेना बहुत जरूरी है. इसका नियमित अभ्यास करने से करीब 13-17 कैलोरी बर्न की जा सकती है, जिससे वजन घटाने में मदद मिल सकती है।

रोज सिर्फ 10 मिनट करे सूर्यनमस्कार, एक नहीं कई बीमारियों से मिलेगी राहत -  benefits of suryanamaskar-mobile

“हेल्‍थ” से संबंधित जानकारी के लिए हमारे पेज betultalks.com को फॉलों व शेयर करें –

Health Tips : रुमाल या टिश्यू पेपर, जानें दोनों में कौन है बेहतर?

Dark Circles – आंखों के नीचे के काले घेरे हटाने का घरेलू उपाय