Yoga For Diabetes: नैचुरल तरीके से शुगर करें कंट्रोल, जानें लाभ-

yoga, yogasan, yoga benefit, diabetes, health benefit, yoga for daibetes, Yoga for sugar patients, yoga for diabetes, yoga to control sugar, yoga for health, yoga for healthy lifestyle, ardha matyasendra aasan, paschimotan aasan, baalasan, yoga capital rishikesh, rishikesh news, uttrakhand news, local 18, शुगर के मरीजों के लिए योग, शुगर कंट्रोल करने के लिए योग, डायबटीज में असरदार योग, हेल्दी लाइफ के लिए योग, अर्धमत्यासेंद्र आसन, पश्चिमोतानासन, बालासन,

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

Yoga For Diabetes: हमारे गलत जीवनशैली और खान-पान कि वजह से हम कई तरह की बीमारियों से घिरे रहते हैं। फिर बच्चे हो या बूढ़े सभी को किसी न किसी बीमारी से परेशान हैं। देखा जाए तो ज्‍यादातर लोग डायबिटीज (शुगर) से परेशान हैं, जिसके लिए लोग अंग्रेजी दवाइयों का सहारा लेते हैं, लेकिन, फिर भी ये बीमारी जड़ से समाप्त नहीं होती। डायबिटीज से परेशान लोगों के लिए योग सबसे ज्‍यादा फायदेमंद साबित हो सकता है। योग न सिर्फ बीमारियां दूर करता है बल्कि शरीर को भी स्वस्थ रखता है। वहीं, हम आपको कुछ ऐसे योग आसनों के बारे बताने जा रहे हैं, जोकि शुगर के मरीजों को काफी लाभ करेंगे। Yoga For Diabetesयोगशाला के योग ट्रेनर बताते हैं कि जब हमारे शरीर के पैंक्रियाज में इंसुलिन कम मात्रा में पहुंचता है तब हमारे ब्लड में ग्लूकोज का स्तर बढ़ने लगता है। इसी स्थिति को डायबिटीज कहा जाता है, इंसुलिन पाचक ग्रंथि द्वारा बनने वाला एक हार्मोन है, जो हमारे शरीर के अंदर भोजन को एनर्जी में परिवर्तित करता है और यहीं हार्मोन हमारे शरीर में शुगर की को भी कंट्रोल करता है।

शरीर में शुगर बढ़ जाने पर हमारे शरीर को भोजन से एनर्जी बनाने में परेशानी होने लगती है, जिसकी वजह से ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है और कई अंगों को नुकसान पहुंचाने लगता है। इस बीमारी को दूर करने में ये योगासन काफी फायदा करते हैं।

भुजंगासन इस आसन को करने के लिए सबसे पहले पेट के बल जमीन पर लेट जाएं। उसके बाद अपने पैरों को आपस में मिलाएं और हथेलियों को अपने सीने के पास कंधों की सीध में रख लें, साथ ही अपने माथे को जमीन पर रखते हुए अपने शरीर को सहज रखें। गहरी सांस लेते हुए अपने शरीर के आगे के हिस्से को ऊपर की तरफ उठाएं और दोनों हाथों को एकदम सीधा रखें।

बालासन बालासन करने के लिए सबसे पहले पैरों को मोड़कर वज्रासन में बैठ जाएं। उसके बाद अपने दोनों ही हाथों को ऊपर ले जाएं और आगे की ओर झुकें। उसके बाद अपनी हथेलियों को जमीन पर ले जाएं, इसके बाद अपने सिर को जमीन की ओर ले जाएं। इस आसन को करने से मोटापा भी कम होता है साथ ही बदन दर्द और मानसिक तनाव भी दूर होता है।

पर्श्वोत्तनासन पर्श्वोत्तनासन को पिरामिड पोज भी कहा जाता है। इस आसन का अभ्यास रोजाना करने से हमारे घुटनों का दर्द भी ठीक होता है। इसे करने के लिए अपने एक पैर को आगे बढ़ाकर करीब 45 डिग्री एंगल बना लें, फिर आगे की ओर झुकते हुए अपने हाथों को नीचे की ओर जमीन पर रख लें।

हेल्‍थसे जुड़ी तमाम जानकारी के लिए हमारे पेज betultalks.com को फॉलों व शेयर जरूर करें

Margashirsha Month 2023: मार्गशीर्ष महीने की इन तिथियों में ना करें कोई शुभ काम, होता है अशुभ…

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

Related Articles

Back to top button