Weather Update Today : बर्फीली हवाओं से कांपा मध्यप्रदेश, शुक्रवार रहा सबसे ठंडा दिन, अभी और बढ़ेगी शीतलहर, 8.5 डिग्री तक गिरा पारा

Weather Update Today : मध्यप्रदेश के बैतूल जिले में ठंड के तेवर लगातार तीखे होते जा रहे हैं। शनिवार से जिले में शीतलहर (Cold Wave in Betul) भी चलने लगी है। इसकी वजह उत्तर भारत से आ रही बर्फीली हवाएं हैं। तापमान में लगातार गिरावट (steady drop in temperature) का ही नतीजा रहा कि शुक्रवार की रात इस सीजन की सबसे सर्द रात रही। वहीं शनिवार शाम होते ही कई स्थानों पर अलाव जलते नजर आए। आने वाले दिनों में तापमान में और गिरावट आएगी। जिलेवासियों को कड़ाके की ठंड (bitter cold In betul) का सामना करना पड़ेगा।

सतपुड़ा की वादियों में बसे बैतूल शहर (Betul City) समेत पूरा जिला अब ठंड की चपेट में आ गया है। पिछले दो दिनों से तापमान में लगातार गिरावट आई है। शनिवार का न्यूनतम तापमान (Betul Temperature Today) 8.5 डिग्री दर्ज किया गया। शुक्रवार का न्यूनतम तापमान 10.2 डिग्री पर था। एक ही दिन में तापमान में लगभग 2 डिग्री की गिरावट आ गई। दिन में भी ठंडी हवाएं चलने के कारण अधिकतम तापमान भी तेजी से कम होते जा रहा है। अधिकतम तापमान भी लुढ़ककर 24 डिग्री के करीब पहुंच गया है।

अब दिन में ठंडी हवाएं चलने लगी हैं। जिससे ठंड का एहसास होने लगा है। लोग दिन में भी गर्म कपड़े पहनने को मजबूर हो गए हैं। दिन में धूप अच्छी लगने लगी है। ठंड के कारण लोग दफ्तरों से बाहर धूप सेकते नजर आए। शाम ढलते ही ठंड के तेवर और अधिक बढ़ जाते है। रात के समय पड़ रही कड़ाके की ठंड से बचने के लिए लोग अलाव का सहारा लेने को मजबूर हो गए हैं।

बढ़ती ठंड से किसान खुश | Betul Temperature Today

बढ़ती ठंड से आम लोग भले ही परेशान हो, लेकिन किसान खुश है। ठंड जितनी अधिक होगी, फसलों को उतना ही फायदा होगा। कई किसानों ने रबी की बोवनी कर दी है और फसल अंकुरित हो गई है। फसल अंकुरण के बाद किसानों ने सिंचाई करना भी शुरू कर दिया है। हालांकि अभी भी कई किसानों की बोवनी होना बाकी है। जिन किसानों ने बोवनी कर दी और फसल निकल गई है, उस फसल को ठंड का फायदा होगा। ठंड अधिक पड़ने पर जमीन में नमी बरकरार रहेगी और किसानों को सिंचाई कम करनी पड़ेगी। वैसे भी रबी फसलों के लिए अधिक तापमान की आवश्यकता नहीं होती है।

अभी और तीखे होंगे तेवर

मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि आने वाले दिनों में जिलेवासियों को फिर कड़ाके की ठंड से जूझना पड़ेगा। उत्तर भारत में जैसे ही बर्फबारी होगी, इसका असर जिले में भी देखने को मिलेगा। पश्चिमी विक्षोभ के चलते हवाओं की दिशा में बदलाव आ गया था। जिसके कारण तापमान में बढ़ोतरी हो गई थी। विक्षोभ का असर खत्म होने के बाद उत्तर दिशा से तेज हवाएं चलने लगी है। जिससे तापमान तेजी से गिरने लगा है। नवंबर के अंतिम सप्ताह और दिसंबर, जनवरी, फरवरी माह में कड़ाके की ठंड का दौर जारी रहेगा। 

नीचे देखें पूरे नवंबर माह में कैसे रहे तापमान के तेवर…

नवंबर माह में ऐसे रहे ठंड के तेवर

दिनांकअधिकतम तापमान न्यूनतम तापमान1 नवंबर26.712.72 नवंबर27.5 12.53 नवंबर28.713.24 नवंबर29.513.75 नवंबर30.814.86 नवंबर30.014.27 नवंबर29.014.58 नवंबर28.713.79 नवंबर28.713.510 नवंबर28.014.211 नवंबर27.714.512 नवंबर27.514.513 नवंबर26.212.214 नवंबर26.512.015 नवंबर26.711.716 नवंबर26.212.517 नवंबर25.212.018 नवंबर24.210.219 नवंबर23.88.5

नोट: तापमान के आंकड़े डिग्री सेल्सियस में है