Weather Update : 10 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचा तापमान, कंपकंपाया जिला

Winter Weather Upadate : जिले में इस साल कभी-कभी मूसलाधार बारिश का दौर कई दिनों तक जारी रहा। जिले के इतिहास में संभवत: पहली बार इतनी बारिश दर्ज की गई है। औसत से अधिक बारिश के कारण यह आंकड़ा 64 इंच तक पहुंच गया था। अतिवृष्टि की वजह से इसका असर दिवाली के बाद देखने को मिला। पिछले चार दिनों से कड़ाके की ठंड पड़ने लगी है, जिससे रात का पारा 10 डिग्री पर पहुंच गया है, जबकि पूरा जनजीवन ठिठुरने को मजबूर है. दोपहर में चुभने वाली धूप अब गुनगुनी लगने लगी है। स्थिति यह है कि सुबह-शाम कड़ाके की ठंड का दौर शुरू हो गया है। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि इस साल बेहद ठंड रहने वाली है। इसका असर लगभग शुरू हो गया है। इधर कश्मीर में भी लगातार बर्फबारी हो रही है। वहीं जिले में ठंड के चलते गर्म कपड़ों की मांग भी बढ़ गई है।

दिन के तापमान में एक डिग्री और रात के तापमान में दो डिग्री की गिरावट आई है।
नवंबर के एक पखवाड़े के बाद ठंड ने भी अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। हालात यह हो गए हैं कि जहां दिन का तापमान 1 डिग्री गिरकर 24 डिग्री सेल्सियस के आसपास पहुंच गया है, वहीं रात का तापमान भी 2 डिग्री गिरकर 10 डिग्री के आसपास पहुंच गया है। कड़ाके की ठंड से हर कोई ठिठुरने को मजबूर है. उत्तर भारत से आ रही सर्द हवाओं से जिले में ठंड बढ़ती जा रही है। पिछले दो साल में नवंबर में तापमान 11 डिग्री से नीचे नहीं गया।

जिले में 64 इंच बारिश हो चुकी है
इस साल जिले में 64 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है। अत्यधिक वर्षा के कारण नदी-नाले और जलाशय लबालब भर जाते हैं। यही वजह है कि इस बार ठंड भी अपने तीखे तेवर दिखा रही है। मौसम विशेषज्ञों का मानना ​​है कि दिसंबर और जनवरी में और ठंड पड़ सकती है। उन्होंने बताया कि 8 साल में दूसरी बार 60 इंच से ज्यादा बारिश होने से कड़ाके की ठंड पड़ने की संभावना है.

गर्म कपड़ों की बढ़ी डिमांड
सर्द मौसम के चलते गर्म कपड़ों की डिमांड काफी बढ़ गई है। सुबह-शाम जहां लोग गर्म कपड़ों से लदे नजर आते हैं। वहीं, दोपहर में वे स्वेटर के साथ हाफ जैकेट पहने नजर आ रहे हैं, ताकि उन्हें ठंड से बचाया जा सके. इसके अलावा घरों में रूम हीटर भी काम करने लगे हैं, ताकि ठंड से बचा जा सके। वहीं दूसरी ओर दुकानदारों का भी मानना ​​है कि इस बार सर्दी की दस्तक होने से गर्म कपड़ों समेत इलेक्ट्रॉनिक हीटर से जुड़ी बिक्री अच्छी रहेगी।

दिसंबर में और ठंड पड़ेगी
मौसम वैज्ञानिक विजय पराडकर ने बताया कि इस बार ठंड अधिक पड़ेगी। दिसंबर और जनवरी के महीनों में तापमान में लगातार गिरावट आएगी। नपा द्वारा सार्वजनिक स्थानों पर हीटिंग की व्यवस्था नहीं होने के कारण लोगों को कूड़ा जलाकर आग की व्यवस्था करनी पड़ रही है. पिछले साल ऐसा रहा था तापमान 30 नवंबर 2021 को तापमान 11 डिग्री रहा था। जबकि 2020 में नवंबर माह में रात का तापमान 12 डिग्री तक चला गया। 2020 में दिसंबर की शुरुआत में भी ठंड नहीं बढ़ी। 15 दिसंबर के बाद तापमान में गिरावट दर्ज की गई।