Tulsi Vivah 2022 : तुलसी विवाह आज, जानें पूजा मुहूर्त, शुभ योग और महत्व

Tulsi Vivah 2022 : हिंदू कैलेंडर के अनुसार, देवउठनी एकादशी के अगले दिन तुलसी विवाह का आयोजन किया जाता है. इसके बाद से शुभ विवाह के मुहूर्त प्राप्त होने लगते हैं क्योंकि देवउठनी एकादशी से चातुर्मास का समापन हो जाता है. कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि को तुलसी विवाह होता है. इस दिन व्रत रखने और तुलसी का भगवान शालीग्राम के साथ विवाह कराने का विधान है. 

तुलसी विवाह 2022 मुहूर्त
पंचांग के अनुसार, इस साल कार्तिक शुक्ल द्वादशी तिथि 04 नवंबर दिन शुक्रवार को शाम 06 बजकर 08 मिनट पर शुरू हो रही है. इस तिथि की समाप्ति अगले दिन 05 नवंबर शनिवार को शाम 05 बजकर 06 मिनट पर हो रही है. उदयातिथि के आधार पर तुलसी विवाह 05 नवंबर को किया जाएगा और इस दिन ही व्रत रखा जाएगा. तुलसी विवाह शाम के समय किया जाता है.

तुलसी विवाह पूजा विधि-

  • एकादशी व्रत के दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्नान आदि करके व्रत का पालन करें.
  • इसके बाद भगवान विष्णु की पूजा करें।
  • अब भगवान विष्णु के सामने दीपक और धूप जलाएं। फिर उन्हें फल, फूल और भोग अर्पित करें।
  • मान्यता है कि एकादशी के दिन भगवान विष्णु को तुलसी का भोग लगाना चाहिए।
  • शाम को भगवान विष्णु की पूजा करते हुए विष्णु सहस्रनाम का पाठ करें।
  • एकादशी की पूर्व संध्या पर केवल सात्विक भोजन करना चाहिए।
  • एकादशी के व्रत में भोजन नहीं किया जाता है।
  • एकादशी के दिन चावल का सेवन वर्जित है।
  • एकादशी का व्रत तोड़कर ब्राह्मणों को दान और दक्षिणा दें।

Source : Internet

https://betultalks.com/gomed-ratna-ke-laabh/