Travel Tips : हवाई जहाज की टिकट और वीजा का झंझट खत्म!

Travel Tips : भारत से आप चाहे तो सड़क मार्ग से भी विदेश जा सकते हैं। यह सुनने में आपको अजीब लग रहा होगा, लेकिन सच में कुछ देश ऐसे हैं जिन्‍हे सडक मार्ग से घुमा जा सकता हैं और विदेश में छुट्टियां मनाने का सपना पूरा किया जा सकता है। लेकिन जब हम विदेश  जाने का प्लान बनाते हैं तो बजट आड़े आ जाता है। लेकिन अगर हम आपको विदेश घूमने का सस्ता और आसान तरीका बताएंगे, जिसके बारे में आप शायद नही जानते हों। सबसे दिलचस्प बात ये है कि इन देशों में जाने के लिए वीजा और हवाई जहाज में टिकट बुक करवाने जैसी दिक्कतों का सामना नहीं करना पडे़गा। और यहां आप रोड के जरिए आसानी से जा सकते हैं।

सिंगापुर का नाम खूबसूरत देशों में शुमार है. आपको जानकर हैरानी होगी कि कार से भी सिंगापुर जाया जा सकता है. यहां पहुंचने में आपको करीब 91 घंटे लग सकते हैं. दिल्ली से चलकर आप यूपी, बिहार, असम, नगालैंड, थाईलैंड और मलेशिया होते हुए यहां पहुंच सकते हैं.

South Asia's most visited destination: Singapore | दक्षिण एशिया का सर्वाधिक  घूमा जाने वाला डेस्टिनेशन है सिंगापुर, यहां का चांगी सी-बीच और क्लार्क क्वे  बनाएगा ...

आप आसानी से रोड के जरिए नेपाल जा सकते हैं. दिल्ली से काठमांडू तक की दूरी लगभग 1310 किमी है. यहां आप बाइक या कार से आसानी से ट्रैवल कर सकते हैं. यहां भारतीय नागरिकों को वीजा की जरूरत नहीं हैं.

नेपाल कैसे जाएं, नेपाल के लिए ट्रेन और घूमने की जगह कौन सी है?

भूटान में घूमने के लिए भारतीय नागरिकों को वीजा की जरूरत नहीं है। हालांकि, भूटान पहुंचकर पारो या फुएंतशोलिंग के इमिग्रेशन ऑफिस में रुकना पड़ेगा. रोड के जरिए आप बंगाल के सिलीगुड़ी से भूटान के बॉर्डर फुएंतशोलिंग पहुंचने में 4 से 5 घंटे का समय लग सकता है।

बांग्लादेश भी रोड के जरिए आसानी जाया जा सकता है. बंगाल होते हुए आप आसानी से बांग्लादेश घूम सकते हैं. हालांकि, इसके लिए आपको वीजा की जरूरत होगी।

Travel Tips: हवाई जहाज की टिकट और वीजा का झंझट खत्म! रोड के जरिए घूमें ये  देश | Countries that indian can travel tjrough road know in hindi | TV9  Bharatvarsh

ऐसी ही टूर टीप्‍स से जुडी जानकारी के लिए betultalks.com को फालो करे-

बैटरी चूस रहे हैं ये Apps, Google ने इन 43 Apps को तुरंत डिलीट करने का दिया आदेश

Explained – लैपटॉप-टैबलेट और कंप्यूटर अब नहीं होंगे आयात, जानें क्यों?