Rudraksha Rules : रुद्राक्ष धारण करते समय इन बातों का रखें ध्यान, जानिए

Rudraksha Rules – हिंदू धर्म में रुद्राक्ष को विशेष महत्व दिया गया है। माना जाता है कि रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शिव के आंसुओं से हुई है। ऐसे में महादेव की कृपा बनाए रखने और जीवन में आने वाली परेशानियों को दूर करने के लिए व्यक्ति रुद्राक्ष धारण करता है। Rudraksha Rules शास्त्रों के अनुसार रुद्राक्ष धारण करने से पहले कई नियमों का पालन करना बहुत जरूरी होता है। मान्यता है कि जिस प्रकार भगवान शिव को प्रसन्न करने और उनका आशीर्वाद पाने के लिए सोमवार के दिन व्रत, पूजा और रुद्राभिषेक किया जाता है, उसी प्रकार रुद्राक्ष धारण किया जाता है। Rudraksha

Photo meditation with rudraksha mala or rosary beads

Rudraksha Rules : रुद्राक्ष धारण करते समय इन बातों का रखें ध्यान, जानिए

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जो व्यक्ति रुद्राक्ष धारण करता है उसे जीवन में अकाल मृत्यु का भय नहीं रहता है। लेकिन रुद्राक्ष धारण करने के लिए कुछ नियमों का पालन करना बहुत जरूरी है। Rudraksha Rules ऐसा माना जाता है कि रुद्राक्ष धारण करते समय थोड़ी सी भी लापरवाही महादेव को अप्रसन्न कर सकती है। साथ ही व्यक्ति को भगवान शिव के भयंकर क्रोध का भी सामना करना पड़ता है। जानिए रुद्राक्ष पहनने के जरूरी नियम.

Photo old coins and rudraksh on the street market in rishikesh india

रुद्राक्ष धारण करते समय इन बातों का रखें ध्यानRudraksha Rules

  • ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सप्ताह का सोमवार भगवान शिव को समर्पित है। इस दिन किए गए छोटे-छोटे उपाय, पूजा और भगवान का स्मरण करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और अपनी कृपा बरसाते हैं। भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए सोमवार का दिन बहुत शुभ माना जाता है। ऐसे में रुद्राक्ष धारण करने के लिए सोमवार सबसे अच्छा दिन है।
  • ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अगर आप रुद्राक्ष की माला पहनने की सोच रहे हैं तो पहले यह देख लें कि माला में कम से कम 27 दाने होने चाहिए।
  • शास्त्रों में कहा गया है कि रुद्राक्ष खरीदने के बाद इसे सीधे नहीं पहना जाता है। बल्कि बाजार से खरीदकर पहले माला को लाल रंग के कपड़े में बांध लें और फिर शिव मंदिर में रख दें। इसके बाद ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप करें.
  • इसके बाद हाथ में थोड़ा सा गंगा जल लें और रुद्राक्ष की माला को धो लें. इसके बाद हाथ में गंगा जल लेकर संकल्प लें और फिर से रुद्राक्ष की माला धारण करें। इस नियम के साथ माला धारण करने से महादेव प्रसन्न होते हैं और कृपा बरसाते हैं।
  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, रुद्राक्ष धारण करने से पहले व्यक्ति को स्नान अवश्य करना चाहिए।

Pitru Paksha 2023 : इस 1 फूल के बिना अधूरे हैं तर्पण, वजह भी जान लें

Jaya Kishori : बुरी आदतों को कैसे पहचानें? – जया किशोरी