Pandit Pradeep Mishra Katha: बैतूल में बज गया कथा का शंखनाद, 1.5 लाख श्रद्धालुओं के बैठने की होगी व्यवस्था, जानिए पूरी खबर

बैतूल न्यूज़ : प्रसिद्ध कथावाचक पं. प्रदीप मिश्रा की शिव पुराण कथा आगामी माह दिसम्बर में होने जा रही है जिसको लेकर आज बडोरा नागपुर रोड स्थित किलेदार गार्डन में भूमिपूजन और ध्वज स्थापना का कार्यक्रम विधिविधान से किया गया। भूमिपूजन मुख्य जजमान राजा ठाकुर और कौशल्या बघेल दोनों परिवारों के द्वारा सयुक्त रूप से किया गया। पंडित जी के द्वारा पूरे विधि विधान से पूजा अर्चना कराई गई।

दो साल बाद पूरा होने जा रहा संकल्प(Pandit Pradeep Mishra Katha)

किलेदार परिवार और बाथरे परिवार के द्वारा पं. प्रदीप मिश्रा की शिव पुराण कथा का आयोजन किया जा रहा है। पं. प्रदीप मिश्रा के कार्यक्रम को लेकर दो साल पहले शिक्षक दम्पत्ति संजय बाथरे और श्रीमती रश्मि बाथरे ने सीहोर जाकर पं. प्रदीप मिश्रा से कथा के लिए आग्रह किया था। दो साल बाद उन्हें तारीख मिली और इसकी तैयारियां शुरू हो गई। 12 दिसम्बर से 18 दिसम्बर तक श्री मां ताप्ती शिव महापुराण कथा का आयोजन किया जा रहा है। श्रीमती रश्मि बाथरे की मां रिटायर शिक्षिका कौशल्या बघेल जिनकी उम्र 87 साल है उनकी ईच्छा थी कि पं. प्रदीप मिश्रा की शिव पुराण कथा का आयोजन किया जाए और अब उनकी ईच्छा पूरी होने जा रही है। श्रीमती रश्मि बाथरे ने बताया कि इतने बड़े आयोजन के लिए हमें चिंता हो रही थी, लेकिन भोले के रूप में आशु किलेदार भैय्या मिल गए और उन्होंने आयोजन को लेकर जिम्मेदारी संभालने की बात कही जिससे आज हमें खुशी है कि बैतूल में इतना बड़ा आयोजन हो रहा है।

डेढ लाख भक्तों के बैठने की रहेगी व्यवस्था(Pandit Pradeep Mishra Katha)

पं. प्रदीप मिश्रा की शिव पुराण कथा के आयोजन को लेकर पिछले लम्बे समय से तैयारियां चल रही है। बडोरा से बालाजीपुरम् मार्ग पर ब्रम्हकुमारी आश्रम के पास स्थित किलेदार गार्डन में आयोजन किया जा रहा है। आयोजन को लेकर मुख्य जजमान राजा ठाकुर ने बताया कि अभी 7 एकड़ जमीन में तैयारियां शुरू हो रही है। इसके साथ ही 8 एकड़ जमीन सुरक्षित है। शिव भक्तों की संख्या बढ़ने पर उस जमीन पर भी पंडाल लगाकर बैठने की व्यवस्था की जाएगी। लगभग डेढ लाख शिव भक्तों के बैठने की व्यवस्था की जा रही है। श्री ठाकुर ने सभी से आग्रह किया है कि आयोजन बड़ा है और इसमें सभी लोग सहभागिता निभाए।

पार्किंग और भोजन शाला के लिए भी की गई व्यवस्थाए(Pandit Pradeep Mishra Katha)

पं. प्रदीप मिश्रा की शिव महापुराण कथा सुनने के लिए देश के कोने-कोने से भक्त आने की संभावनाएं है। स्थानीय स्तर पर भी बड़ी संख्या में शिव भक्त कथा सुनने के लिए पहुंचेंगे। ऐसी स्थिति में वाहनों की पार्किंग की अलग-अलग व्यवस्था की गई है। लगभग 35 एकड़ जमीन में यह व्यववस्था रहेगी। इसके अलावा बाहर से आने वाले शिव भक्तों के लिए भोजन शाला का इंतजाम भी किया गया है। अलग-अलग स्थानों पर भोजनशाला, शौचालय और स्नान के लिए भी व्यवस्था की गई है। पूजा सामग्री बिक्री के लिए दुकानों के लिए जगह चिन्हित कर दी गई है।

चिकित्सा व्यवस्था और एम्बुलेंस रहेगी उपलब्ध(Pandit Pradeep Mishra Katha)

पं. प्रदीप मिश्रा की शिव महापुराण कथा के विशाल आयोजन को लेकर आयोजकों ने सभी तरह की व्यवस्था करने की तैयारियां शुरू कर दी है। व्यवस्थाओं में प्रशासन के सहयोग की भी अपेक्षा की गई है। आयोजन को लेकर आशु किलेदार का कहना है कि कार्यक्रम स्थल पर प्राथमिक चिकित्सा सुविधा भी उपलब्ध रहेगी। इसके अलावा एम्बुलेंस की व्यवस्था भी रहेगी। अगर किसी को स्वास्थ्य खराब होता है तो उनको चिकित्सा सुविधा तत्काल उपलब्ध कराई जाएगी।