Pandit Pradeep Mishra Katha : तीसरे दिन अचानक होने लगी बारिश फिर हुआ ये

बैतूल टॉक्स / बैतूल जिले में हो रही ताप्ती शिव पुराण कथा पंडित प्रदीप जी मिश्रा द्वारा बैतूल में संपन्न हो रही है बैतूल में प्रतिदिन लाखों भक्तों का जनसैलाब उमड़ रहा है और प्रथम दिन कथा में भी पानी गिरा और कथा के तीसरे दिन भी बारिश का दौर जारी रहा जिससे कथा स्थल पर कीचड़ मच गया मोर्चा संभालते हुए कथा के संयोजक आशु किलेदार ने देर रात्रि समिति के सदस्यों के साथ मिलकर सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त की

कथा के पहले दिन रात्रि में हुई बारिश से पूरी व्यवस्था चौपट हो गई थी क़िलेदार परिवार और आमला विधायक और बैतूल विधायक सहित समिति के सदस्यों ने मोर्चा संभालते हुए भक्तों को अन्य स्थानो पर शिफ़्ट किया और आर एस के फ़र्म की सभी मशीने बुलाई गई और जेसीबी ग्रेडर अन्य तरीके की मशीनों से इसे समतल किया गया और भक्तों के लिए कथा स्थल को सुचारू रूप से शुरू किया

तीसरे दिन फिर इस तरीके की बारिश से सभी लोग में हड़कंप मच गया और जब पानी ने अपनी रफ्तार पकड़ी और कथा स्थल में पानी घुसने ही वाला था कि समिति के संयोजक आशु क़िलेदार ने सुझाव देते हुए सभी भक्तों से विनम्र अपील कर कहा कि ये समय भक्तों की परीक्षा का है मां ताप्ती हमारी परीक्षा ले रही है और सभी से पंडाल के आजू-बाजू नाली खोदने के लिए आग्रह किया गया ताकि पानी अंदर ना घुसे , फिर जय्कारा लगाकर भक्तों ने अपना श्रमदान दिया और 5 से 10 मिनट के अंतराल में ही नाली खोद दी जिससे ऊपर से गिरने वाला पानी नाली के द्वारा भार जा रहा था और कथा स्थल में नहीं आ रहा था । ताप्ती हम पर प्रसन्न हो रही है हमें मां ताप्ती के आशीर्वाद से ही इस कथा को संपन्न करना है और सभी का सहयोग प्रथनिय है