Online Fraud: QR Code स्कैन करने पर यूजर ध्यान दें! नहीं तो आपका अकाउंट हो सकता है खाली

Online Fraud: क्यूआर कोड से करते हैं पेमेंट तो तुरंत हो जाएं सावधान नहीं तो आपका अकाउंट खाली हो सकता है। दरअसल क्यूआर कोड के जरिए पेमेंट फ्रॉड का एक नया मामला सामने आया है। जिसमें एक दुकानदार से क्यूआर कोड के जरिए भुगतान करने के नाम पर 88 हजार रुपये ठग लिए गए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह मामला यूपी के प्रतापगढ़ का है. जहां एक शीशे की दुकान से कुछ सामान लेने के बदले 55 हजार रुपये का भुगतान करना पड़ा. जालसाजों ने दुकानदार से भुगतान के लिए क्यूआर कोड मांगा। इसके बाद रुपये ट्रांसफर कर दिए। इसके बाद दुकानदार के बैंक खाते से 88 लाख रुपये की बड़ी रकम चोरी हो गई।

इन बातों का हमेशा ध्यान रखें

  • क्यूआर कोड स्कैन करने के बाद साइट और डोमेन नेम को जरूर चेक कर लें।
  • क्यूआर कोड स्कैन कर भुगतान करने के लिए आपको कोई एप डाउनलोड करने की जरूरत नहीं है।
  • आपको बता दें कि ज्यादातर स्मार्टफोन में कैमरा ऐप में स्कैनर होता है। अगर कोई क्यूआर कोड स्कैन करने के लिए ऐप डाउनलोड करने के लिए कह रहा है तो उससे बचना चाहिए।
  • क्यूआर कोड के साथ भुगतान के लिए आपको अपनी यूपीआई आईडी या बैंक खाते की जानकारी साझा नहीं करनी चाहिए।
  • उपयोगकर्ताओं को क्यूआर कोड के माध्यम से भुगतान करने के लिए ओटीपी का उपयोग नहीं करना चाहिए।

इस तरह भुगतान स्वीकार न करें क्यूआर कोड का इस्तेमाल कर भुगतान स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए। क्यूंकि क्यूआर कोड आधारित पेमेंट एक्सेप्ट के नाम पर हैकर्स द्वारा मैलिशस कोड भेजा जाता है, जो आपके स्मार्टफोन को कंट्रोल करते हैं और फिर बैंकिंग फ्रॉड को अंजाम दिया जाता है. नोट – ऑनलाइन भुगतान के लिए Gpay, PhonePe और Paytm जैसे प्रमाणित भुगतान प्लेटफॉर्म के QR कोड को हमेशा स्वीकार किया जाना चाहिए। नहीं तो आपका बैंक अकाउंट हैक हो सकता है।

Source: Internet