NPS Rule Change : अब NPS से निकाल पाएंगे पूरा पैसा, नियमों में हुए अहम बदलाव

National Pension Scheme, NPS, NPS Withdrawal Rule Changes, National Pension System, NPS, NPS online withdrawal, nps return, NPS Rule Change, Documentation, NPS Rule, National Pension System, Government Yojana, Pension Plan,

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

NPS Rule Change :- सरकार की पॉपुलर पेंशन स्कीम, नेशनल पेंशन स्कीम (NPS) में पैसा लगाने वालों के लिए बहुत ही अच्‍छी खबर है। एनपीएस नियामक पीएफआरडीए (PFRDA) सब्‍सक्राइबर्स को सिस्टेमैटिक लंपसम विद्ड्रॉल के तहत 100 फीसदी फंड निकासी की सुविधा दे सकता है। NPS Rule Change अभी तक फंड निकासी की सीमा 60 फीसदी है, वर्तमान में एसएलडब्‍ल्‍यू के अतंर्गत सदस्य सेवानिवृत्ति या 60 वर्ष की उम्र के बाद मिलने वाली 60 फीसदी परिपक्वता राशि को मासिक/तिमाही/छमाही या सालाना आधार पर निकाल सकते हैं। राष्ट्रीय पेंशन योजना (NPS) के नियमों में बड़े बदलाव की तैयारी की जानकारी पेंशन कोष नियामक (PFRDA) के अध्यक्ष डॉ. दीपक मोहंती ने हाल में आयोजित एनपीएस चिंतन शिविर में दी। अगर ऐसा होता है तो सब्‍सक्राइबर्स को पैसे निकालने और इनके जरूरत पर इस्तेमाल की ज्यादा सुविधा हो जाएगी।

क्‍या है एसएलडब्‍ल्‍यू सुविधा? NPS Rule Change
एसएलडब्ल्यू सुविधा में एनपीएस ग्राहकों को 75 वर्ष की आयु तक एन्यूटी/पेंशन प्लान खरीदने से छूट दी गई है. इसका मतलब है कि वे पूरा पैसा एनपीएस खाते में ही रख सकते हैं. खाते में रखे पैसे को वे नियमित अंतराल पर निकाल सकते हैं, लेकिन, वे केवल 60 फीसदी फंड की निकासी ही कर सकते हैं। यदि पीएफआरडीए का नया प्रस्ताव लागू होता है तो सदस्यों को एसएलडब्ल्यू से 100 फीसदी रकम निकालने की अनुमति मिल जाएगी। पीएफआरडीए का मानना है कि 100 फीसदी फंड निकासी की सुविधा होने से सब्‍सक्राइबर्स लंबे समय तक अपनी राशि एनपीएस कोष में रखेंगे। इससे उन्‍हें बढ़िया रिटर्न मिलेगा और एनपीएस के पास भी ज्‍यादा फंड जमा होगा।

NPS Rule Change : अब NPS से निकाल पाएंगे पूरा पैसा, नियमों में हुए अहम बदलाव

National Pension System Details in Marathi- नेशनल पेंशन स्कीम (NPS) - इन्फो हब मराठी

ऐसे शुरू कर सकते हैं एसएलडब्‍ल्‍यू NPS Rule Change
एनपीएस ग्राहकों को एसएलडब्ल्यू सुविधा शुरू करने के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन मोड के जरिए एक बार आवेदन करना होगा। इस सुविधा को शुरू और खत्म करने की तारीख भी बतानी होगी। साथ ही यह भी बताना होगा कि वे राशि कितने अंतराल पर निकालेंगे, प्रत्येक भुगतान के बाद शेष राशि एनपीएस में निवेश के रूप में बनी रहेगी, इस शेष राशि पर रिटर्न मिलता रहेगा।

“बिजनेस” से जुडी जानकारी के लिए betultalks.com को फॉलों व शेयर करें –

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

Related Articles

Back to top button