अच्छी खबर; NEET की निशुल्क आवासीय कोचिंग से आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को मिलेगा लाभ

NEET Free Coaching : छत्तीसगढ़ स्थित कोल इंडिया की सहायक कंपनी, एसईसीएल (SECL) अपनी निगमित सामाजिक उत्तरदायित्व पहल “एसईसीएल के सुश्रुत” (Sushrut of SECL) के तहत 12वीं कक्षा के छात्रों को निःशुल्क आवासीय चिकित्सकीय प्रवेश परीक्षा की कोचिंग प्रदान करेगी। यह कंपनी छात्रों को राष्ट्रीय मेडिकल प्रवेश परीक्षा (नीट) की तैयारी में मदद करने के लिए मार्गदर्शन और कोचिंग प्रदान करेगी।

86830610

इस कदम से आर्थिक रूप से कमजोर पृष्ठभूमि वाले छात्रों को बहुत लाभ होगा, खासकर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के कोयला बेल्ट क्षेत्रों के गांवों में रहने वाले छात्रों को, जो डॉक्टर बनने के इच्छुक हैं लेकिन चिकित्सकीय प्रवेश परीक्षा की कोचिंग का खर्च उठाने में समर्थ नहीं हैं।

प्रवेश परीक्षा की तैयारी के लिए छात्रों का चयन नीट के समान पैटर्न पर आधारित प्रतियोगी परीक्षा के माध्यम से होगा। NEET Free Coaching इस कार्यक्रम के तहत बिलासपुर स्थित निजी प्रशिक्षण संस्थान के साथ साझेदारी में कुल 35 छात्रों के बैच को प्रवेश परीक्षा की तैयारी करवाई जाएगी। यह कार्यक्रम नियमित राष्ट्रीय स्तर की टेस्ट सीरीज और मार्गदर्शन के साथ आवासीय होगा और इसमें आवास और भोजन व्यवस्था की सुविधाएं शामिल होंगी।

विस्तृत नियम और शर्तों को जानने और इस कार्यक्रम के पंजीकरण के लिए छात्र एसईसीएल की वेबसाइट-https://secl-sil.in/index.php देखें। ऑनलाइन पंजीकरण की अंतिम तिथि 6 सितंबर, 2023 है। इसके लिए, चयन परीक्षा 10 सितंबर को आयोजित की जाएगी।

UPSC की फ्री में मिलेगी कोचिंग, ये राज्य दे रहा ऑफर, यहां करना होगा अप्लाई  | UPSC CSE Notification Free Coaching To 200 Youths in Odisha | TV9  Bharatvarsh

प्रवेश परीक्षा की तैयारी के लिए आवेदन करने के पात्र होने के लिए छात्रों को 2023 में न्यूनतम 60 प्रतिशत अंकों के साथ 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करना आवश्यक है।

NEET Free Coaching आवेदक मध्य प्रदेश या छत्तीसगढ़ का आवश्यक रूप से निवासी होना चाहिए, और उनका निवास स्थान या उनका स्कूल कोरबा, रायगढ़, कोरिया, सरगुजा, सूरजपुर, बलरामपुर, मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर, उमरिया, अन्नुपुर और शहडोल जिलों में एसईसीएल संस्थान के 25 किलोमीटर के दायरे में स्थित होना चाहिए।

इसके अलावा, आवेदक के माता-पिता/अभिभावकों की कुल आय 8,00,000 रुपये (आठ लाख रुपये प्रति वर्ष) से अधिक नहीं होनी चाहिए। प्रवेश परीक्षा की तैयारी के कार्यक्रम में प्रवेश से पहले, उपयुक्त सरकारी प्राधिकारी से आय प्रमाण पत्र/गरीबी रेखा से नीचे का (बीपीएल) कार्ड/अंत्योदय अन्न योजना कार्ड में पंजीकृत माता-पिता या आश्रित का आयकर रिटर्न जमा करना होगा।

प्रवेश परीक्षा की तैयारी के लिए निर्धारित कुल सीटों में कोयला मंत्रालय की नीति के अनुसार आरक्षण भी लागू किया जाएगा, NEET Free Coaching जिसके तहत अनुसूचित जाति के लिए 14 प्रतिशत, अनुसूचित जनजाति के लिए 23 प्रतिशत और अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 13 प्रतिशत सीटें आरक्षित होंगी।

महंगाई से मिलेगी राहत ! सितंबर से सस्ते हो जाएंगे चावल, गेहूं, दाल और सब्जियां