Murder News : सिर कटी लाश की हुई पहचान, बेरहमी से किया था परिवार वालों ने मर्डर

Murder News : 29 दिसंबर को एक खबर पुलिस तक पहॅुची थी की रानीपुर के जंगल के पास एक सिर कटी हुई लाश मिली है, जिसको गंभीरता से लेते हुए एसपी सिमाला प्रसाद, एएसपी नीरज सोनी, रोशन सोनी, रोशन जैन एसडीओपी ने धारा 302, 201 भादवी के तहत मामला दर्ज किया था, और उसके बाद से ही आरोपी की तलाश जारी थी।

आपको बता दे कि महिला की सिर कटी लाश हनुमाल डोल मंदिर के पुल के नीचे से मिली थी।

आरोपी की तलाश हेतू सायबर की मदद लेकर घटना के दौरान वहां से गुजरे सैंकड़ो लोगो से पुलिस अधीक्षक द्वारा पूरी टीम को साथ लेकर लोगो से पूछताछ की गयी, साथ में आस पास के थाना क्षेत्र में जितने भी अपराधी थे उनसे पूछताछ की गयी, लेकिन फिर भी कोई जानकारी नही मिल रही थी, जिसके बाद आरोपी की तलाश के लिये अधिकारियों द्वारा एस.आई.टी. का गठन किया गया।

एस आई टी के गठन के बाद बैतूल जिले के सीमावर्ती जितने भी जिले है सभी जगह से गुम हुई महिलाओं की जानकारी प्राप्‍त की गयी, जिसमें लगभग 500 महिलाये थी, इसके संबंध में कई लोगो से पूछताछ की फिर भी कोई सफलता नही मिली,

महिला के भाई की रिपोर्ट पर मिला सुराग

13 मार्च को गंज थाने में दिलीप डांगी जो कि सागर के निवासी है उन्‍होने रिपोर्ट किया कि उसकी बहन तीन माह से लापता है, कही मिल नही रही है, जीजा से पूछने पर वो भी कोई सटिक जवाब नही दे रहा है, रिपोर्ट के आधार पर जब पुलिस ने गुम महिला के पति शैलेन्‍द्र राजपूत और उसके परिजनों को पूछताछ के लिये थाना बुलाया, तो शैलेन्‍द्र रंग पंचमी के दिन से गायब हो गया।

पहली पत्‍नी की भी संदिग्‍ध मौत हुई थी

एसपी सिमाला प्रसाद ने बताया कि पुलिस का शैलेन्‍द्र पर शक तब और गहरा हो गया था, जिसके बाद उसके पीछे मुखबिर लगाये गये, और उसका पुराना आपराधिक रिकार्ड निकाला तो पता चला की उसने पहली पत्‍नी को भी जलाकर मार दिया था, जिसके बाद आरोपी के खिलाफ कोतवाली में मामला दर्ज किया गया।

ऐसे उतारा मौत के घाट

शैलेन्‍द्र की तलाश हेतू सायबर की मदद से आरोपी के कॉल डिटेल्‍स को निकाला गया जिसमें पता चला की वह पुणे महाराष्‍ट्र में है, जिसके बाद तुरंत पुणे टीम रवाना की, जिसके बाद आरोपी को वापिस 23 मार्च को लाया गया। पूछताछ में आरोपी ने अपने अपराध स्‍वीकार कर लिये, उसने बताया कि उसकी पत्‍नी राधा राजपूत से विवाद होने से उसके द्वारा मारपीट की गई जिसमें मृतिका की मृत्‍यु हो गयी बाद में आरोपी द्वारा मृतिका की लाश छुपाने के लिये दिन भर लाश अपने घर पर ही रखी रात को अपनी कार से अपने बेटे के साथ मृतिका को हनुमाल डोल मंदिर की पुलिया के पास ले जाकर फेंक दिया, और वही पर अपनी मृत पत्‍नी का सिर अपने बेटे की मदद से आरी से काट कर अलग कर दिया। वही फरार होने के बाद से ही वह अपने दोस्‍त गोविन्‍द वरकड़े के घर कत्‍लढाना में छुप कर रहा था।

आरोपी ने बताया कि प्‍लॉट बेचने के बाद रूपयें का लेनदेन एक कारण था, आरोपी ने सागर में अपने साले के माध्‍यम से एक प्‍लॉट बेचा था, और उसके रू पूरे नही मिले थे, जिसको लेकर विवाद था, इसी बात पर उसका अपनी पत्‍नी से विवाद हुआ, और उसने अपनी पत्‍नी से मारपीट भी की और इसी में उसकी मौत हो गयी।