MP Assembly Election : इस गांव में नेताओं का आना मना है जानिए क्यों विरोध कर रहे ग्रामीण

MP Assembly Election, MP Election 2023 Dates, MP Election 2023 , MP Election Analysis, Madhya Pradesh Election 2023, Madhya Pradesh Assembly Elections 2023, Madhya Pradesh Politics, Madhya Pradsh News, Betul Accident News , Betul News Today, Betul Station News, betul., Betul Live, news, viral, betul, Betul Latest News,Betul, Betul News,Betul Talks, Betul Update, Betul Latest News, Betul Today News, Betul Latest Today News,Betul Samachar, Betul Ki Badi Khabar,Betul Breaking News,

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

MP Assembly Election : मध्य प्रदेश के बैतूल जिले में एक ऐसा गांव है, जहां पर ग्रामीणों ने नेताओं का प्रवेश निषेध कर दिया। ग्रामीण यहां पर विधानसभा 2023 में होने वाले चुनाव कभी बहिष्कार कर रहे हैं। MP News Today गांव वालों ने रविवार को “नेताओं का गांव में प्रवेश निषेध” के बैनर भी लगा दिए हैं। इसके साथ ही गांव वालों ने चुनाव बहिष्कार को लेकर भी बैनर लगाए हैं। गांव में प्रवेश द्वार बनाकर उसे नाका लगाकर बंद कर दिया है।

यह अनोखा मामला बैतूल जिले की घोड़ा डोंगरी तहसील के ग्राम मनकाढाना का है। Betul यहां पर सड़क सहित कई मूलभूत सुविधाओं के लिए ग्रामीण 25 साल से मांग कर रहे हैं MP Assembly Election लेकिन मांग पूरी नहीं हो रही है इस बार विधानसभा चुनाव के पहले गांव वालों ने नेताओं के गांव में आने पर प्रतिबंध लगा दिया है और कहां है कि जब तक उनके मांग पूरी नहीं होगी तब तक इस गांव में किसी भी नेता को नहीं आने दिया जाएगा गांव में सड़क पत्ते सहित के मूलभूत सुविधाओं की मांग ग्रामीण कर रहे हैं और उन्होंने इन्हीं मांगों को लेकर विधानसभा चुनाव 2023 का बहिष्कार करने का ऐलान भी कर दिया हैं।

MP News : "इस गांव में नेताओं का प्रवेश निषेध हैं" विधानसभा चुनाव का बहिष्कार भी करेंगे, क्यों विरोध कर रहे ग्रामीण - Tapti Darshan

ग्रामीणों का कहना है कि मनकाढाना गांव में करीब 4 किलोमीटर हिरणघाटा तक पक्की सड़क नहीं होने के कारण ग्रामीण परेशान हैं। सड़क नहीं होने से एंबुलेंस भी नहीं पहुंच पाती है। मरीज को अस्पताल पहुंचाने में काफी दिक्कतें होती है। हालत यह है कि ग्रामीण गर्भवती महिलाओं एवं मरीज को खाट पर लेटकर 4 किलोमीटर पैदल चलकर हिरण घाट तक आते है। इसके बाद वाहन से मरीज को अस्पताल पहुंचते हैं। वही इस दौरान कई गर्भवती महिलाओं की मौत भी हो चुकी है।

MP Assembly Election : इस गांव में नेताओं का आना मना है जानिए क्यों विरोध कर रहे ग्रामीण

ग्रामीण महिला सावित्री शेलुकर, उर्मिला भुसुमकर का कहना है कि गांव में नेता आते हैं, वादे करते हैं, वादों को पूरा नहीं करते। इसीलिए सभी गांव वाले निर्णय लिया है कि नेताओं का गांव में आने पर प्रतिबंध लगाया जाए। सड़क सहित अन्य मूलभूत सुविधाएं जब तक नहीं मिलेगी, तब तक गांव में नेताओं को आने नहीं दिया जाएगा। वहीं विधानसभा चुनाव का बहिष्कार भी करेंगे।

Elections in a Pandemic : Role of the Election Commission of India | Economic and Political Weekly

पट्टा और जाति प्रमाण पत्र भी नहीं मिल रहा MP News Today

ग्रामीणों के अनुसार गांव में जमीन का पट्टा नहीं मिलने के कारण जाति प्रमाण पत्र नहीं बन रहे हैं। इसी वजह से बच्चों को पढ़ाई में दिक्कत हो रही है। कई विद्यार्थी पढ़ाई छोड़ रहे हैं, साथ ही गांव के कई पढ़े-लिखी युवा बेरोजगार है, जिन्हें रोजगार नहीं मिल रहा।

MP Chunav 2023 : भाजपा-कांग्रेस में होगी कांटे की टक्कर, जाने पूरी खबर

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

Related Articles

Back to top button