अब सांझवीर टाइम्स के प्रसार सहायक पर ओवरटेक के बाद हमला

कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज, आरोपियों का नहीं लगा सुराग

बैतूल टॉक्स / सांझवीर टाईम्स की निष्पक्ष पत्रकारिता पर सुनियोजित हमले जारी है। संपादक पंकज सोनी के साथ महिलाओं से हमला कराने वाले चेहरे बेनकाब हो चुके है। इस बीच बुधवार कार्यालय के प्रसार सहायक और मशीन प्रबंधक रितेश पवार के साथ वाहन को ओवरटेक कर एक्टिवा पर सवार तीन युवकों ने हमला कर दिया। इस हमले में उनके सिर और हाथ पर चोट आई है। कोतवाली पुलिस ने हालांकि मामला दर्ज किया है, लेकिन आरोपियों का 24 घंटे बाद भी सुराग नहीं लगा है। इस मामले में अखबार के संपादक पंकज सोनी ने गुरूवार फिर कलेक्टर और एसपी को मामले में शिकायत कर स्वतंत्रत पत्रकारिता पर हो रहे हमले को लेकर चिंता जाहिर करते हुए बताया कि यदि इस तरह की घटनाएं नहीं रूकी तो अखबार के दफ्तर में ताला लगाकर प्रशासन के पास चाबी सौंप देंगे।
सांझवीर टाईम्स में प्रसार सहायक और मशीन प्रबंधक रितेश पवार हर दिन की तरह 14 दिसम्बर को अपने दो पहिया वाहन से दोपहर 2.45 बजे सिविल लाईन दफ्तर से गौठाना स्थित प्लांट पर अखबारों के मास्टर (एलपीएफ) लेकर रवाना हुए थे।

कॉलेज चौक से उनके दो पहिया वाहन के आगे काली एक्टिवा पर सवार तीन कैप और चेहरा ढके युवकों ने गाड़ी ओवरटेक की और इसे लहराते हुए जाने लगे। चूंकि रितेश को संपादक पर हुए सुनियोजित हमले को लेकर शंका हुई, तो उसने युवकों का वीडियो बनाना शुरू कर दिया। मुर्गी चौक दादाजी कुटी गेट के बीच जमकर मारपीट कर दी। उनका वाहन भी क्षतिग्रस्त कर दिया। उसके बाद युवक एक गली से भाग निकले। उन्होंने घटना की जानकारी तत्काल अपने संपादक पंकज सोनी और मार्केटिंक प्रबंधक राज कवड़कर को दी। जानकारी लगते ही स्टॉफ के लोग उप संपादक गौरी पदम, स्थानीय संपादक ज्ञानदेव लोखंडे, प्रदीप कुर्वे मौके पर पहुंचे तब तक युवक भाग चुके थे। पास में लगे एक घर में लगे सीसीटीवी कैमरे में तीन युवक भागते हुए नजर आए। घटना के पांच घंटे बाद कोतवाली थाने में अज्ञात युवकों के खिलाफ पुलिस ने रितेश पवार की एमएलसी के बाद धारा 294, 323, 506, 34 का मामला दर्ज किया है, लेकिन अब तक आरोपियों का सुराग नहीं लगा है।
कलेक्टर-एसपी से मिलकर संपादक ने सुरक्षा की लगाई गुहार
इस घटनाक्रम के बाद अखबार के प्रकाशक/संपादक पंकज सोनी ने कलेक्टर अमनबीर सिंह और एसपी सिमाला प्रसाद को शिकायत की है। शिकायत में उन्होंने बताया कि पूर्व में उनके साथ महिलाओं द्वारा हमला किया जा चुका है, इस मामले की जांच में बिट्टू बोथरा और रजनीश जैन के द्वारा षडय़ंत्र रचने की बात सामने आ चुकी है। बुधवार को कलेक्टर और एसपी को इस संबंध में आरोपियों पर एफआईआर के लिए ज्ञापन दे चुके है। इसके दो घंटे बाद जिस तरह कार्यालय के कर्मचारी पर हमला हुआ इससे स्टॉफ के सभी लोग भयभीत है। उन्होंने कलेक्टर और एसपी को बताया कि हमलो का सिलसिला इसी तरह चलते रहा तो वे अखबार के दफ्तर में तालाबंद कर चाबी प्रशासन के पास सौंप देंगे। उन्होंने कलेक्टर और एसपी से मामले में सुरक्षा मुहैया कराकर आरोपियों का सुराग लगाने का अनुरोध किया है। शिकायत की प्रतिलिपि गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र, नेताप्रतिपक्ष, गोविंद सिंह, डीजीपी सुधीर सक्सेना और नर्मदापुरम की आईजी दीपिका सूरी को भी प्रेषित की गई।