Lok Sabha 2024 : वोटिंग 7 फेज में, पहली वोटिंग 19 अप्रैल, आखिरी 1 जून को, नतीजे 4 जून को

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

Lok Sabha 2024 की तारीखों का ऐलान हो गया है। लोकसभा के साथ 4 राज्यों- आंध्र प्रदेश, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम के विधानसभा चुनाव की तारीखें भी जारी कर दी गई है। लोकसभा की 543 सीटों पर 7 फेज में वोटिंग होगी।

Election : लोकसभा के साथ इन राज्यों में बजेगी चुनाव की रणभेरी... आज दोपहर 3 बजे आयोग करेगा ऐलान - Republic Bharat

Lok Sabha 2024 : चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस LIVE

फेज-1

फेज 1 में तमिलनाडु, राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर में चुनाव होंगे।

फेज-2

नोटिफिकेशन 28 मार्च और पोलिंग 26 अप्रैल को होगी।

फेज-3

नोटिफिकेशन 7 अप्रैल को, पोलिंग 7 मई को होगी। 12 राज्य शामिल होंगे। 3 नए राज्य में चुनाव शुरू होगा।

फेज-4

18 अप्रैल नोटिफिकेशन, पोलिंग 13 मई।

फेज-5

30 मई को पोलिंग होगी।

फेज-6

25 मई को वोटिंग

फेज-7

7 मई नोटिफिकेशन, पोल 1 जून।

यह भी पढ़े : Lok Sabha Election 2024 Date : थोड़ी देर बाद लोकसभा चुनावों की तारीखों को ऐलान, देखें पूरा शेड्यूल

2024 में 97 करोड़ वोटर्स, 2 करोड़ नए मतदाता जुड़े

2024 लोकसभा में 97 करोड़ लोग वोटिंग कर सकेंगे। चुनाव आयोग ने 8 फरवरी को सभी 28 राज्यों और 8 केंद्र शासित प्रदेशों के वोटर्स से जुड़ी स्पेशल समरी रिवीजन 2024 रिपोर्ट जारी की थी।

आयोग ने बताया कि वोटिंग लिस्ट में 18 से 29 साल की उम्र वाले 2 करोड़ नए वोटर्स को जोड़ा गया है। 2019 लोकसभा चुनाव के मुकाबले रजिस्टर्ड वोटर्स की संख्या में 6% की बढ़ोतरी हुई है। चुनाव आयोग ने कहा- दुनिया में सबसे ज्यादा 96.88 करोड़ वोटर्स लोकसभा चुनावों में वोटिंग के लिए रजिस्टर्ड हैं। साथ ही जेंडर रेशो भी 2023 में 940 से बढ़कर 2024 में 948 हो गया है।

यह भी पढ़े : E Shram Card की 1000 रूपए की नई क़िस्त जारी, यहाँ से पेमेंट लिस्ट चेक

चुनाव आयोग की एडवाइजरी- राजनीतिक दल प्रचार में बच्चों का इस्तेमाल न करें

चुनाव आयोग ने 5 फरवरी को सभी राजनीतिक दलों को सलाह दी है कि चुनाव प्रचार अभियानों में बच्चों का इस्तेमाल किसी भी रूप में न करें, चार बातें..

  1. राजनीतिक दलों के नेता और उम्मीदवार को प्रचार के दौरान बच्चों को गोद में लेने, गाड़ियों में बैठाने और रैली में शामिल न करने की अपील की है।
  2. आयोग ने चुनावी प्रक्रिया के दौरान बच्चों से पोस्टर और पर्चे बांटने और नारेबाजी करने जैसे काम भी ना करवाने का निर्देश दिया है।
  3. प्रतिबंध कविता, गाने, बोले गए शब्दों, राजनीतिक दल या उम्मीदवार के चुनाव चिन्ह के इस्तेमाल के अलावा किसी भी तरीके से बच्चों के उपयोग पर भी लागू होगा।
  4. हालांकि, किसी बच्चे के माता-पिता या अभिभावक राजनेता के करीबी हैं और वे अपने साथ बच्चे को ले जाते हैं तो इसे दिशानिर्देशों का उल्लंघन नहीं माना जाएगा, बशर्ते वे उनकी पार्टी के चुनाव प्रचार में शामिल न हों।

चुनाव तारीख की घोषणा के साथ आचार संहिता लागू होगी, जानिए इसके मायने क्या

नेता/उम्मीदवार सरकारी गाड़ी या फिर सरकारी बंगले का इस्तेमाल नहीं कर सकते। किसी भी तरह की सरकारी घोषणाएं/उद्घाटन नहीं किए जा सकते।

  • सांसद निधि से नया फंड जारी नहीं कर सकते।
  • विज्ञापन सरकारी खर्च पर नहीं दिया जा सकता
  • अफसरों/कर्मचारियों के ट्रांसफर/पोस्टिंग पर प्रतिबंध रहता है।
  • कोई भी उम्मीदवार या पार्टी चुनाव प्रचार के लिए धार्मिक स्थलों का इस्तेमाल नहीं कर सकता।

यह भी पढ़े : Ayushman Card Apply : कराएं 5 लाख रुपये तक का इलाज फ्री, यहाँ से करें आवेदन, जानें प्रक्रिया

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

Related Articles

Back to top button