Joint Pain – घुटनों में कट-कट की आवाज आए तो क्या करें?

Joint Pain – घुटनों या जोड़ों से आवाज आना आज कल आम समस्‍या हो गई है. घुटनों में कट-कट की आवाज को नजरअंदाज करने के बजाय इसे प्राक़तिक रूप से ठीक करने पर ध्‍यान देना चाहिए।

Free photo young sport man with strong athletic legs holding knee with his hands in pain after suffering ligament injury  isolated on white.

जानिए कारगर इन तरीकों के बारे में

उम्र बढ़ने के साथ-साथ शरीर में कई शारिरिक समस्‍याऍं होने लगती हैं।  ऐसा होना आम है पर कभी-कभी ये समस्याएं छोटी उम्र में भी प्रभावित कर सकती हैं, बीते कुछ वर्षो में भारत में लोगों को छोटी उम्र में हार्ट अटैक जैसी समस्याएं ज्यादा हो रही हैं, इसके अलावा 30 की कम उम्र में घुटनों में दर्द या कट-कट की आवाज तक आने लगती है, इसे सामान्‍य समझकर नजर अंदाज करना आगे चलकर बहुत भारी पड़ सकता है, छोटी उम्र में हड्डियों में इस तरह की दिक्कत बेहद चौंकाने वाली है।

चलिए आपको बताते हैं कि आप घुटनों में कम हो चुकी ग्रीस को नेचुरली किस तरह बढ़ा सकते हैं:-

Free photo elderly woman suffering from pain in hand arthritis old person and senior woman female suffering from pain at home

क्यों आती है घुटनों से आवाज-

पिछले कई वर्षो में बुजुर्गों के घुटनों या जोड़ों में दर्द की शिकायत हुआ करती थी, परन्‍तु अब ये युवाओं को भी परेशान करने लगी है। जानकार का कहना है कि घुटनों में ग्रीस के कम होने पर दर्द या कट-कट की आवाज आने लगती है। शरीर में कैल्शियम की कमी के एवं ग्रीस के कम होने पर न सिर्फ आवाज बल्कि बैठने-उठने या लेटने तक में परेशानी तक होने लगती है। ग्रीस को बढ़ाने के लिए व्‍यक्ति दवा या इंजेक्शन की मदद लेते हैं, लेकिन इसे नेचुरली भी बढ़ाया जा सकता है.

हेल्दी डाइट में ये चीजें करें शामिल-

स्‍वस्‍थ रहने के लिए खानपान का खास ख्याल रखना जरूरी है। हेल्दी डाइट के रूटीन को फॉलो करें, इसमें सभी मिनरल्स या विटामिन हो ये जरूरी नहीं है तथा ओमैगा-3 फैटी एसिड वाली चीजों को खाने की आदत डालें, इस पोषक तत्व के अलावा एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन भी करें। घुटनों में ग्रीस बढ़ाने के लिए आप अखरोट खा सकते हैं. लेकिन इसे भी सीमित मात्रा में ही खाएं।

कैल्शियम का इंटेक-

शरीर में कैल्शियम की कमी अगर एक बार हो जाए तो फिर इसे पूरा बहुत मुश्किल हो जाता है। नेचुरली कैल्शियम की पूर्ति के लिए डेयरी प्रोडक्ट्स खाएं पर ध्यान रहे कि आपको फुल क्रीम से बनी चीजों का सेवन ज्यादा नहीं करना है. इसके अलावा विटामिन डी के इंटेक के लिए कुछ देर धूप में भी जरूर बैठें।

सप्लीमेंट्स से लें मदद-

अगर आपके पास समय नहीं है तो आप डॉक्टर की सलाह पर सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं। ओमेगा-3 फैटी एसिड, कोलेजन और अमीनो एसिड वाले सप्लीमेंट्स को रूटीन में शामिल किया जा सकता है. इनका इस्‍तेमाल करने से पहले डॉक्टर या एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें।

ऐसी सेहत से जुडी जानकारी के लिए betultalks.com को फालों करे –

Sleeping Tips : छोड़ दें ये 5 आदतें, बिस्तर पर जाते ही आ जाएगी नींद

बुजुर्गों की देखभाल करते समय इन 5 बातों का रखें ध्यान, बीमारिया रहेगी दूर