Harda Blast Update : हरदा की पटाखा फैक्ट्री के मामले में बड़ा खुलासा; फैक्ट्री में ज्यादातर मजदूर नाबालिग थे

Harda Blast Update, Blast In Harda Update, Blast In Harda, Harda news , illegally Firecrackers factory, Harda, cracker factory in house, Mp News, explosion due to fire, Mp latest News, death of 3 people in hard, Harda Pataka Factory Blast Update,

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

Harda Blast Update :- मध्य प्रदेश के हरदा की पटाखा फैक्ट्री के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. जांच में पता चला है कि यह फैक्ट्री कृषि भूमि पर बनी थी. इमारत में विस्फोटकों के भंडारण के लाइसेंस तो थे, लेकिन इन्हें दो साल पहले ही निरस्त कर दिया गया था. बावजूद इसके यहां भंडारण जारी था. Harda Blast यही नहीं, इस फैक्ट्री में ज्यादातर मजदूर नाबालिग थे और इन्हें 200 रुपये की दिहाड़ी पर रखा गया था. इन्हें दिन भर में कम से कम एक हजार बम बांधने का टारगेट दिया गया था. (Harda Blast Update)

हरदा में मौत की एक और फैक्ट्री मिली, जगह-जगह बिखरा पड़ा है बारूद, भयावह है यहां का नजारा, देखें Video - watch one more 1500 gunpowder capacity factory found horrible viral video
Harda Blast Update : हरदा की पटाखा फैक्ट्री के मामले में बड़ा खुलासा; फैक्ट्री में ज्यादातर मजदूर नाबालिग थे

यह खुलासा पुलिस और प्रशासन की ओर से गठित कमेटी की जांच में हुआ है. इस जांच में पता चला है कि दो साल पहले तक भंडारण का लाइसेंस लेकर फैक्ट्री मालिक राजेंद्र और सोमेंद्र पटाखे बनाकर बेचने का काम करते थे. इस अनियमितता का खुलासा होने के बाद प्रशासन ने इनके लाइसेंस तो रद्द कर दिए, लेकिन इसके बाद कभी यह देखने की कोशिश नहीं की कि इस फैक्ट्री का क्या उपयोग हो रहा है. यह स्थिति उस समय है, जब इस फैक्ट्री को लेकर दर्जनों शिकायतें जिला प्रशासन और पुलिस को स्थानीय लोगों की ओर से दी गई थीं.

फैक्ट्री में बांधते थे सुतली बम (Harda Blast Update)

कमेटी की जांच में पता चला है कि फैक्ट्री मालिक बारुद से सुतली बम बनवाते थे और मार्केट में सप्लाई करते थे. जांच में यह भी पता चला है कि इस फैक्ट्री के आगे वाले हिस्से में कॉमर्शियल उपयोग की अनुमति दी गई थी. वहीं पीछे का हिस्सा कृषि कार्य में इस्तेमाल होना था. दो साल पहले तक इस फैक्ट्री में 15-15 किलो विस्फोटक रखने का लाइसेंस भी था. जांच के दौरान पता चला है कि इस फैक्ट्री में काम करने के लिए उम्र का कोई बंधन नहीं था.

Harda blast news: 11 dead, over 200 injured in firecracker factory explosion in MP | Video | Mint
Harda Blast Update : हरदा की पटाखा फैक्ट्री के मामले में बड़ा खुलासा; फैक्ट्री में ज्यादातर मजदूर नाबालिग थे

8 साल के बच्चों भी करते थे काम (Harda Blast Update)

फैक्ट्री मालिक ने यहां 8 से 10 साल तक के बच्चों को भी काम पर लगाया था. यहां तैनात एक एक सुपरवाइजर के 20 से 25 बच्चे काम कर रहे थे. एक अनुमान के मुताबिक इस फैक्ट्री में कुल सौ से अधिक लोग काम करते थे. बता दें कि इस फैक्ट्री में आग लगने और विस्फोट होने से कुल 11 लोगों की मौत हुई है, जबकि दर्जनों लोग घायल हुए हैं. अभी तक मृतकों की पहचान नहीं हो सकी है. उनकी पहचान के लिए डीएनए टेस्ट कराया जा रहा है.

नप गए डीएम एसपी (Harda Blast Update)

इस मामले में हरदा के डीएम ऋषि गर्ग और एसपी संजीव कुमार कंचन पर एक्शन हो गया है. सरकार ने इन दोनों ही अधिकारियों को हटा दिया है. वहीं इस मामले में सरकार की सख्ती के बाद दोनों आरोपियों और उनके सहयोगियों को अरेस्ट कर लिया गया है. फिलहाल एक आरोपी सोमेंद्र को पुलिस ने रिमांड पर लिया है. वहीं बाकी आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया है. दूसरी ओर, इस मामले पर संज्ञान लेते हुए मानवाधिकार आयोग ने राज्य के मुख्य सचिव और गृह सचिव से जवाब तलब किया है.

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

Related Articles

Back to top button