Lahsun Ki Kheti : लहसुन की खेती देती है जबरदस्त मुनाफा, मिलेगी 30,000 रुपये की सब्सिडी

farming of garlic, Lahsun Ki Kheti , subsidy, Garlic Farming, Broccoli cultivation, Vegetable development scheme started, Official website of Vegetable Development Scheme,compensation, PM Kisan Fasal Bima Yojana , Crop Protection Scheme, Cotton Farming, Fasal ka Muavja , Fasal ka Muavja 2023, PM Kisan Yojana, PM Kisan , Yojana , PM Kisan Yojana update , PM ,

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

Lahsun Ki Kheti : किसानों की आय बढ़ाने व आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए सरकार की ओर से भिन्‍न-भिन्‍न योजनाएं चलाई जा रही है। इसी कड़ी में लहसुन की खेती (farming of garlic) को प्रोत्साहित करने के उद्‌देश्य से राज्य सरकार की ओर से किसानों को लहसुन की खेती करने के लिए सब्सिडी दी जा रही है। खास बात यह है कि लहसुन की खेती (farming of garlic) के लिए सरकार किसानों को 30,000 रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से सब्सिडी (subsidy) का लाभ प्रदान कर रही है। इस योजना के तहत किसान 10 एकड़ तक सब्सिडी का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। जो किसान लहसुन की खेती करना चाहते हैं, Lahsun Ki Kheti वे राज्य सरकार से मिल रही सब्सिडी (subsidy) का लाभ उठा कर अपनी फसल लागत कम करके मुनाफा बढ़ा सकते हैं। 

किस योजना के तहत मिलेगी लहसुन की खेती पर सब्सिडी Lahsun Ki Kheti

किसानों की आय बढ़ाने के लिए राज्य सरकार की ओर से अनुदान योजना (grant scheme) की शुरुआत की गई है। इसमें फसल विविधीकरण (crop diversification) के तहत लगाई गई बागवानी फसलों को बढ़ावा देने के लिए उद्यान विभाग के माध्यम से मसाला फसलों की खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है जिसमें लहसुन को भी शामिल किया गया है। बता दें कि लहसुन एक ऐसी मसाला फसल है जिससे किसान काफी अच्छा पैसा कमा सकते हैँ। इसे मसाले के रूप में तो उपयोग में लिया ही जाता है साथ ही इसका अचार भी बनाया जाता है। 

Lahsun Ki Kheti : लहसुन की खेती देती है जबरदस्त मुनाफा, मिलेगी 30,000 रुपये की सब्सिडी

Grey duck Garlic, Thermadrone garlic bulbs are better in the hand

लहसुन के लाभ (Benefits of Garlic)

लहसुन (garlic) को आयुर्वेद में औषधी माना गया है। इसमें प्रचुर मात्रा में फास्फोरस, जिंक, पोटेशियम और मैग्नीशियम पाया जाता है। इसके अलावा इसमें विटामिन सी, विटामिन के, फोलेट, नियासिन और थायमिन की अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसके सेवन से कई प्रकार की बीमारियों से बचा जा सकता है। इसका सेवन कब्ज दूर करने के साथ ही भूख को बढ़ता है, लहसुन के सेवन से सर्दी, जुकाम की समस्या से बचा जा सकता है। इसके सेवन से दिल की बीमारियों से बचाव होता है। यह खून के धक्के नहीं जमने देता है, यह रक्तवाहिनियों में रूकावट को दूर करता है जिससे ब्लड का सर्कुलेशन ठीक रहता है। यह पाचन क्रिया को दुरुस्त करता है। ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में भी यह सहायक है। इसके नियमित सेवन से शरी की रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी होती है।

कितनी मिलेगी सब्सिडी Lahsun Ki Kheti

राज्य सरकार की ओर से नई योजना के तहत उद्यान विभाग के माध्यम से बागवानी फसलों पर अनुदान देने का निर्णय लिया गया है। इसके तहत किसानों को फसल लागत का 50 प्रतिशत अनुदान राशि (subsidy) दिया जाएगा। यदि बात की जाए मसाला फसल लहसुन की खेती की तो इसकी प्रति एकड़ लागत राशि 60,000 रुपए निर्धारत की गई है। इस पर शासन की ओर से किसानों को 50 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा। इस हिसाब से किसानों को लहसुन की खेती पर राशि 30,000 रुपए प्रति एकड़ अनुदान दिया जाएगा। किसान लहसुन की खेती के लिए सब्सिडी का लाभ 10 एकड़ क्षेत्र के लिए उठा सकते हैं। यानि किसान लहसुन की खेती पर अधिकतम 3,00,000 रुपए ( तीन लाख रूपये )तक अनुदान प्राप्त कर सकते हैं।

If you have a bumper harvest of garlic from your garden, you'll need to know how to store it. You can use a traditional braid to hang bulbs from the rafters, or try them dehydrated, frozen, or even pickled. Learn how to cure and store homegrown garlic now on Gardener's Path. #garlic #garden #gardenerspath

कितनी हो सकती है कमाई Lahsun Ki Kheti

एक ऑकडे के अनुमान के अनुसार एक एकड़ खेत में करीब- करीब 50 क्विंटल तक लहसुन फसल की पैदावार प्राप्त की जा सकती है। बाजार में लहसुन का भाव (price of garlic) 10,000 रुपए से लेकर 21,000 रुपए प्रति क्विंटल तक मिल जाता है। इसकी लागत की बात करें तो इसकी लहसुन की खेती में प्रति एकड़ 40,000 से लेकर 60,000 रुपए तक की लागत आती है। यदि आधुनिक कृषि क्रियाओं और इसकी उन्नत किस्म की खेती की जाए तो किसान इससे 5 लाख रुपए से लेकर 10 लाख रुपए तक की कमाई कर सकते हैं।

लहसुन की खेती पर सब्सिडी के लिए कैसे करें आवेदन Lahsun Ki Kheti

लहसुन की खेती पर सब्सिडी (subsidy)  का लाभ हरियाणा राज्य के किसान ले सकते हैं। इसके लिए उन्हें विभाग के पोर्टल hortnet.gov.in पर आवेदन करना होगा। उत्पादन से पूर्व होने वाले नुकसान की भरपाई के ही किसान मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना के तहत इन फसलों का बीमा (crop insurance) भी करवा सकते हैं। योजना का लाभ प्राप्त करने के इच्छुक किसानों का मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल (my crop my details portal) पर रजिस्ट्रेशन होना जरूरी है। इसके बाद ही आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

How to grow and braid garlic. Order garlic late summer, plant in fall, harvest next year mid summer.

आवेदन हेतु किन दस्तावेजों (documents ) की होगी आवश्यकता

मसाला फसलों पर अनुदान के तहत लहसुन की खेती पर सब्सिडी (Subsidy on garlic cultivation) के लिए आवेदन करते समय आपको कुछ दस्तावेजों documents की आवश्यकता होगी। ये प्रमुख दस्तावेज इस प्रकार से हैं

  • आवेदन करने वाले किसान का आधार कार्ड
  • आवेदन करने वाले किसान का पासपोर्ट साइज फोटो
  • आवेदन करने वाले किसान का मोबाइल नंबर जो आधार से लिंक हो
  • आवेदक किसान के खेत के कागजात
  • बैंक खाता विवरण हेतु बैंक पासबुक की कॉपी आदि।
  • योजना की अधिक जानकारी के लिए किसान कहां करें संपर्क

मसाला फसलों के तहत लहसुन की खेती (farming of garlic) पर मिलने वाले अनुदान के संबंध में अधिक जानकारी के लिए किसान सरकारी अवकाश के दिन को छोड़कर किसी भी दिन जिला बागवानी अधिकारी के कार्यालय जाकर जानकारी ले सकते हैं। इसके अलावा विभाग के टोल फ्री नंबर (toll free number) 1800-180-2021 पर भी संपर्क किया जा सकता है। 

“सरकारी योजनाओं” की जानकारी के लिए हमारे पेज betultalks.com को फॉलों व शेयर करें –

Broccoli Ki Kheti – सरकार दे रही है ब्रोकली की खेती पर 75 प्रतिशत सब्सिडी, ऑनलाइन आवेदन शुरु

Ganne ka samarthan mulya : गन्ना किसानों को मोदी सरकार का तोहफा, जाने पूरी जानकारी

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

Related Articles

Back to top button