Fish Farming Subsidy : मछली पालन के लिए मिलेगी 70 प्रतिशत तक सब्सिडी, यहां करें आवेदन

Fish Farming Subsidy : किसानों की आय बढ़ाने और आर्थिक सहायता के लिए सरकार की ओर से कई प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही है। इसमें मछली पालन मधुमक्खी पालन के लिए सरकार किसानों को प्रोत्साहित कर रही है। सरकार का मानना है कि किसान खेती के साथ इन सभी कामों को करके अपनी कमाई में बढोत्‍तरी कर सकते हैं। खास बात यह है कि मछली पालन  के लिए सरकार की ओर से 70 प्रतिशत तक सब्सिडी दी जा रही है। इसके तहत तालाब निर्माण, बोरिंग पंप सेट आदि की स्थापना के साथ शेड निर्माण के लिए भी आर्थिक सहायता दी जा रही है। Fish Farming Subsidy किसान इस योजना का लाभ उठाकर कम से कम 30 प्रतिशत लागत लगाकर मछली पालन करके अपनी इकंम बढ़ा सकते हैं। मछली पालन के लिए बैंक से आसानी से लोन भी दिलवाया जाता है ताकि किसानों को मछली पालन करने में कोई आर्थिक परेशानी नहीं आए। जो किसान मछली पालन करके लाभ कमाना चाहते हैं, वे इस योजना तहत 30 अगस्त 2023 तक आवेदन कर सकते हैं।

Free vector fishing with net concept illustration

आज हम आपको मछली पालन के लिए कितनी मिलेगी सब्सिडी, मछली पालन से कितना हो सकता है लाभ, मछली पालन के लिए कहां करें आवेदन, आवेदन के लिए किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी आदि बातों की जानकारी दे रहे हैं।

खेती के साथ मछली पालन करने से कितना मिलेगा मुनाफा

मछली पालन की शुरुआत हमेशा छोटे तालाब से ही करें। किसान खेत में मछली पालन के लिए छोटा सा तालाब बनवाकर उससे मछली पालन की शुरुआत कर सकते हैं। छोटे तालाब बनवाते हैं तो उसकी लागत 50,000 रुपए के करीब आएगी। इस पर भी सरकार की ओर से सब्सिडी मिल जाती है। ऐसे में किसान बहुत कम खर्चे पर तालाब का निर्माण करवा कर मछली पालन की शुरुआत कर सकते हैं। चूंकि किसान खेती के साथ मछलीपालन व्यवसाय को करते हैं तो निश्चित रूप उनकी आय में लाभ होगा। खेत में तालाब का निर्माण करवाने से एक तो मछली पालन में आसानी होगी और दूसरा फसलों की सिंचाई के लिए भी तालाब से पानी मिल सकेगा। Fish Farming Subsidy ऐसे में खेत में तालाब बनवाने से किसानों को दोहरा लाभ मिल सकता है। यदि आप शुरुआत में इस बिजनेस में एक लाख लगाते हैं तो आप इससे 4 से 5 लाख रुपए तक कमाई कर सकते हैं। बता दें कि बाजार में मछली की मांग हर मौसम में बनी रहती है, ऐसे में किसान मछली पालन करके काफी अच्छा पैसा कमा सकते हैं।

Fish Farming Business: मात्र 5 हजार रुपए के निवेश में कमाएं लाखों रुपए  महीना, किसान से लेकर हर कोई कर सकता है मछली पालन | Newstrack

किसानों को मछली पालन के लिए कितनी मिलेगी सब्सिडी

राज्य सरकार की ओर से किसानों को तालाब निर्माण, बोरिंग पंप सेट की स्थापना, शेड निर्माण आदि मछली पालन के लिए आवश्यक अवयवों पर सब्सिडी (subsidy) दी जा रही है। Fish Farming Subsidy विभाग की ओर से इस पूरे पैकेज की स्थापना लागत 10.10 लाख रुपए निर्धारित की गई है। इस पर लाभार्थी को 70 प्रतिशत तक अनुदान दिया जाएगा। यानि किसान को 7 लाख से अधिक रुपए तक की सब्सिडी मिल जाएगी। किसान को मात्र 30 प्रतिशत ही पैसा अपनी जेब से खर्च करना होगा जिसकी व्यवस्था किसान बैंक लोन से कर सकते हैं।  

तालाब मात्स्यिकी विशेष सहायता योजना के लिए पात्रता व शर्तें

तालाब मात्स्यिकी विशेष सहायता योजना के लिए सरकार की ओर से कुछ शर्तें व पात्रता निर्धारित की गईं हैं। इस योजना के लिए पात्रता और शर्तें इस प्रकार से हैं –

  • यह योजना राज्य के सभी जिलों के लिए लागू की गई है। इस योजना में अभी बिहार के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति व अति पिछड़ा वर्ग के व्यक्ति आवेदन कर सकते हैं।
  • योजना के तहत एक व्यक्ति अथवा परिवार को योजना के तहत अधिकतम एक एकड़ तथा न्यूनतम 0.4 एकड़ जलक्षेत्र यानी 0.5 एकड़ रकबा के तालाब निर्माण पर पैकेज इकाई का लाभ दिया जाएगा।
  • लाभार्थी का चयन उप मत्स्य निदेशक की अध्यक्षता में कमेटी द्वारा किया जाएगा। इस योजना का लाभ उन्हीं अनुसूचित जाति या जनजाति के किसानों को दिया जाएगा जो राज्य योजना के तहत स्वीकृत अथवा कार्यान्वित पठारी क्षेत्र तालाब निर्माण आधारित योजना का लाभ प्राप्त नहीं कर रहे हैं।
  • तालाब निर्माण के लिए आवेदक के पास स्वयं की निजी भूमि या लीज पर ली गई भूमि होना आवश्यक है।
  • तालाब के निजी स्वामित्व के लिए भू-स्वामित्व प्रमाण पत्र अथवा अघतन मालगुजारी रसीद, लीज की भूमि में लीज का निबंधित एकरारनामा अथवा नॉन-जुडिशियल स्टॉप (1,000 रुपए) पर एकरारनामा जो न्यूनतम 9 साल का हो, आवेदन के साथ संलग्न करना जरूरी होगा।
  • नॉन-जुडिशियल स्टांप पर एकरारनामा के मामले में भू-स्वामी अथवा स्वामियों से भू-स्वामित्व प्रमाण-पत्र अथवा रसीद आवेदन के साथ संलग्न करना आवश्यक है।

मछली पालन पर सब्सिडी (subsidy) के लिए किसान कैसे करें आवेदन

जो किसान तालाब मात्स्यिकी विशेष सहायता योजना के तहत मछली पालन पर सब्सिडी के लिए आवेदन करना चाहते हैं वे 30 अगस्त 2023 तक ऑनलाइन आवेदन मत्स्य निदेशालय, बिहार की वेबसाइट https://fisheries.bihar.gov.in/Default.aspx पर कर सकते हैं। वहीं इस योजना से संबंधित अधिक जानकारी के लिए किसान इसके टोल फ्री नंबर 1800-245-6185 पर संपर्क कर सकते हैं।

Fish farming Subsidy 

मछली पालन पर सब्सिडी के लिए आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज 

तालाब मात्स्यिकी विशेष सहायता योजना के तहत आवेदन करते समय किसानों को कुछ दस्तावेजों की आवश्यकता होगी, ये दस्तावेज इस प्रकार से हैं

  • आवेदन करने वाले व्यक्ति का आधार कार्ड
  • आवेदक का निवास का प्रमाण-पत्र
  • जमीन या तालाब का इंतखाप
  • आवेदक का दो पासपोर्ट आकार का फोटो
  • मछली पालन प्रशिक्षण का प्रमाण-पत्र
  • शपथ पत्र

यदि जमीन या तालाब पट्‌टे पर लिया है, तो नीचे दिए गए दस्तावेज देने होंगे

  • शपथ पत्र व इकरारनामा
  • तालाब की जमाबंदी की नकल और एक सिजरा
  • पट्‌टा धनराशी की रसीद (फार्म 4 पर)
  • इकरारनामा मछली पालक और ग्राम पंचायत के बीच में।
  • नकल प्रस्ताव ग्राम पंचायत तालाब पट्‌टे पर देने के बारे में।

ऐसी योजना से संबंधित जानकारी के लिए betultalks.com को फालो करे-

Kisan Karj Mafi Yojana : किसान कर्ज माफी की नई लिस्ट हुई जारी, देखे

Ladli Behna Yojana :  1.25 करोड़ लाड़ली बहनों के लिए खुशखबरी, रक्षाबंधन से पहले मिलेगा बड़ा तोहफा

Atal Pension Yojana – अब बुढ़ापे में पैसे की टेंशन खत्म, जानें इस से जुड़ी खास बातें