Diwali 2023 Date : दिवाली पर मिट्टी के दीये क्यों जलाये जाते हैं? ग्रहों से भी होता है ये कनेक्शन…

diwali 2023, diwali, दिवाली 2023, diwali par mitti ke hi diya kyu jalate hain, diwali 2023,Diwali Importance, Diwali Lighting, Diwali par diya ka mahatva, diwali par diya kyu jalaen, Diwali diya manyata, दिवाली 2023 उपाय

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

Diwali 2023 Date : हिंदू धर्म में पांच दिवसीय त्योहार दिवाली का विशेष महत्व है। दिवाली की शुरुआत धनतेरस के दिन से होती है. इस दिन माता लक्ष्मी और भगवान गणेश की विधि-विधान से पूजा की जाती है। इस दिन लोग नए कपड़े पहनते हैं और भगवान लक्ष्मी सहित अन्य देवी-देवताओं की पूजा करते हैं और पूरे घर को दीयों और रंगोली से सजाते हैं, जिसके बाद एक-दूसरे के बीच मिठाइयां भी बांटी जाती हैं।

हिंदू धर्म का सबसे बड़ा त्योहार दिवाली कार्तिक मास की अमावस्या को मनाया जाता है। Diwali 2023 Date इस दिन लोग अपने घरों को पूरी तरह से मिट्टी के दीयों से सजाते हैं। लेकिन क्या आपने कभी इसके पीछे की असली वजह जानने की कोशिश की है कि आखिर दिवाली पर मिट्टी के दीये ही क्यों जलाए जाते हैं? आइए जानते हैं कि दिवाली पर मिट्टी के दीयों का ही इस्तेमाल क्यों किया जाता है।

दिवाली मनाने के पीछे का कारण

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, भगवान राम 14 वर्ष का वनवास पूरा करके अयोध्या लौटे थे, इस अवसर पर नगरवासियों ने दीप जलाकर और रंगोली बनाकर हर्षोल्लास के साथ उनका स्वागत किया था। इस दिन पूरी अयोध्या नगरी को दीपों से रोशन किया गया था. तभी से दिवाली का त्योहार कार्तिक मास की अमावस्या को मनाया जाने लगा। इस दिन धन की देवी मां लक्ष्मी के साथ-साथ भगवान गणेश और मां सरस्वती की भी पूजा की जाती है।

Diwali 2023 Date : दिवाली पर मिट्टी के दीये क्यों जलाये जाते हैं? ग्रहों से भी होता है ये कनेक्शन…

दिवाली पर मिट्टी के दीये क्यों जलाये जाते हैं?

मिट्टी के दीये जलाने के पीछे कई कारण हैं। पहला कारण यह है कि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगल ग्रह को मिट्टी और भूमि का कारक माना जाता है। सरसों के तेल का संबंध शनि ग्रह से है। Diwali 2023 Date यही कारण है कि मिट्टी और सरसों के तेल के दीपक जलाने से मंगल और शनि दोनों ही मजबूत होते हैं। जिसके कारण यह शुभ फल देता है। आपको बता दें कि अगर किसी व्यक्ति का मंगल और शनि मजबूत है तो उसे धन, संपत्ति, सुख और वैवाहिक जीवन में सभी सुख मिलते हैं।

तनाव दूर करता है

मिट्टी के दीपक जलाने से सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है जिससे जीवन में खुशहाली बनी रहती है। मिट्टी के दीपक को पांच तत्वों का प्रतिनिधित्व माना जाता है। दरअसल मिट्टी के दीये में सब कुछ पाया जाता है. दीया मिट्टी और पानी से बनता है. इसे जलाने के लिए अग्नि की आवश्यकता होती है और अग्नि वायु के कारण जलती है। यही कारण है कि दिवाली के शुभ अवसर पर केवल मिट्टी के दीपक ही जलाए जाते हैं।

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

Related Articles

Back to top button