Digital Currency : बड़ी खुशखबरी; SBI, HDFC और ICICI बैंक के ग्राहकों की बल्ले-बल्ले! जाने पूरी खबर

Digital Currency : बैंक की तरफ से आज आपके लिए एक बड़ी खुशखबरी है। जी हां, दरअसल रिजर्व बैंक ने बड़े सौदों में इस्तेमाल के लिए डिजिटल रुपये का पायलट प्रोजेक्ट शुरू करने का ऐलान किया है। दरअसल, इसके लिए आपने कुल 9 बैंकों का चयन किया है। इन बैंकों में भारतीय स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक और एचएसबीसी बैंक शामिल हैं।

digital currency

आरबीआई का बड़ा ऐलान
आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि डिजिटल मनी का इस्तेमाल पहले बड़ा था। यह भुगतान और निपटान के लिए है। रिजर्व बैंक द्वारा दिया गया मेरी सबसे अच्छी जानकारी के लिए, इसका उपयोग पहली बार सरकारी प्रतिभूतियों में किया गया था। यानी सरकारी बॉन्ड की खरीद-बिक्री पर सेटलमेंट की रकम पर। पूरा हो गया है । इतना ही नहीं रिजर्व बैंक ने एक महीने का समय भी मांगा है डिजिटल रुपया इंट्राडे लेनदेन के लिए एक पायलट प्रोजेक्ट है।

डिजिटल मुद्रा
दरअसल, क्रिप्टो करेंसी को लेकर बढ़ते हंगामे के बीच सरकार ने एक केंद्रीय उपाय किया है बैंक ने डिजिटल करेंसी लाने का ऐलान किया था। इसके बाद रिजर्व बैंक डिजिटल रुपये को लॉन्च करने का खाका अच्छी तरह से तैयार किया गया था। हाँ उनका तदनुसार, क्रिप्टो मुद्रा की कोई कानूनी मान्यता नहीं है। इन सबके बीच रिजर्व बैंक का डिजिटल रुपया ही मान्य होगा. रही क्रिप्टो की बात तो कहां इसमें करेंसी की वैल्यू घटती-बढ़ती रहती है, लेकिन डिजिटल रुपये में ऐसा कुछ नहीं है।
क्या होगा। इतना ही नहीं क्रिप्टो करेंसी के पीछे कोई ठोस आधार नहीं है। तो वहीं डिजिटल करेंसी के पीछे, ठीक वैसे ही जैसे भौतिक नोटों को छापने के बजाय सिक्योरिटी के तौर पर अलग से राशि भी रखी जाती है।

Digital Currency

विशेष चीज़ें
बता दें कि डिजिटल रुपये को दो तरह से लॉन्च किया जाएगा। एक डिजिटल रुपया बड़ी रकम डिजिटल करेंसी कहे जाने वाले लेनदेन के लिए सेंट्रल बैंकबैंक बनाया जाएगा होलसेल होगा। इसका उपयोग बड़े वित्तीय संस्थान जैसे कि सेकी बैंक, बड़े गैर बैंक, राजा, वित्त कंपनियां और अन्य बड़ी संस्थाएं होंगी।

Source: Internet