Dengue Fever : डेंगू फेफड़ों को पहुंचा रहा नुकसान, जानें लक्षण, इलाज और बचाव के उपाय

Dengue Fever : वर्तमान में देश के कई राज्यों में डेंगू खतरनाक तरीके से बढ़ रहा है। दिल्ली में 4 हजार से ज्यादा बिमारी के केस आ चुके हैं, पश्चिम बंगाल में 30 हजार से अधिक मामले डेंगु के हैं और बिहार में भी मरीजों की संख्या 6 हजार से ज्यादा हो चुकी है।

पूरे देशभर में अब तक डेंगू से लगभग 100 मरीजों की मौत हो चुकी है, इसमें कई लोग 50 से कम उम्र के भी थे। डेंगू के मरीजों में विभिन्‍न प्रकार के लक्षण देखे जा रहे – जैसे :-  उल्टी-दस्त, मांसपेशियों में दर्द और शरीर पर लाल दाने निकलने की समस्या हो रही है। इसी कारण से मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत भी पड़ रही है। अस्पताल में ऐसे कई केस आ रहे हैं जिन मरीजों में प्लेटलेट्स का लेवल तेजी से गिर रहा है, इस बार डेंगू के लक्षणों में कुछ बदलाव भी नजर आ रहे तथा कुछ मरीजों को सांस लेने में परेशानी का भी सामना करना पड़ रहा है, Dengue Fever आम तौर पर डेंगू में इस तरह का लक्षण कम ही देखने को मिलता है, लेकिन इस बार डॉक्टरों का कहना है कि अगर किसी व्यक्ति को तेज बुखार के साथ सांस लेने में परेशानी हो रही है तो उसे तुरंत अस्पताल जाना चाहिए, इस मामले में लापरवाही करना खतरनाक साबित हो सकता है।

Dengue Fever: कैसे होता है डेंगू का बुखार? जानें इसके लक्षण, बचाव और इलाज -  dengue fever know symtoms diagnosis treatment and prevention - AajTak

डेंगू फेफड़ों को पहुंचा रहा नुकसान

डेंगू के कुछ मरीजों में लंग्स इंफेक्शन की समस्या भी हो रही है. डॉक्टरों का कहना है कि डेंगू के कारण रेस्पिरेटरी सिंड्रोम जैसी समस्या हो रही है. इस कारण लंग्स में इंफेक्शन हो रहा है और सांस लेने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। Dengue सफदरजंग हॉस्पिटल में डॉ. दीपक कुमार सुमन बताते हैं कि डेंगू के डी-2 स्ट्रेन की वजह से मरीजों में कई तरह के खतरनाक लक्षण देखने को मिल रहे हैं. डेंगू की वजह से सांस लेने में परेशानी के केस भी आ रहे हैं, हालांकि ऐसे मामले कम हैं, लेकिन फिर भी ये एक खतरनाक लक्षण है. सांस लेने में समस्या संकेत है कि डेंगू का प्रभाव फेफड़ों पर भी हो रहा है।

Dengue Fever : डेंगू फेफड़ों को पहुंचा रहा नुकसान, जानें लक्षण, इलाज और बचाव के उपाय

कोविड से भी हो सकता है संबंध

डॉक्‍टर बताते हैं कि कोविड से भी इसका संबंध हो सकता है, ऐसा इसलिए क्योंकि कोरोना के कारण कई लोगों की इम्यूनिटी कमजोर हुई है। कोविड ने फेफड़ों को भी नुकसान पहुंचाया है. चूंकि डेंगू में भी एक वायरस ही होता है। ऐसे में हो सकता है कि कमजोर हो चुके फेफड़ों पर डेंगू का भी प्रभाव हो रहा है। इसी कारण कुछ मरीजों को सांस लेने में परेशानी हो रही है। डॉ दीपक कहते हैं कि ये समस्या किसी भी उम्र में हो सकती है. ऐसे में लोगों को सलाह है कि अगर बुखार के साथ सांस की परेशानी हो रही है तो समय पर इलाज कराएं।

डेंगू बुखार के लक्षण, कारण, इलाज, दवा, जांच, नुकसान, ठीक होने का समय,  प्रकार - Dengue Fever symptoms, causes, treatment, doctor, medicine,  prevention in Hindi

खुद से न लें दवा

एम्स में मेडिसिन विभाग में एडिशनल प्रोफेसर डॉक्‍टर बताते हैं कि डेंगू के कुछ मामलों में मरीज इलाज में देरी कर देते हैं। इसका कारण होता है कि वह घर पर ही ट्रीटमेंट करते हैं. कुछ लोग घरेलू नुस्खों के फेर में भी फंस जाते हैं, लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए. डेंगू के बुखार में खुद से ट्रीटमेंट करने से बचें. अगर लक्षण गंभीर हो रहे हैं तो तुरंत अस्पताल जाए. समय पर ट्रीटमेंट से स्थिति को गंभीर होने से बचाया जा सकता है।

Dengue Fever: Dengue is causing damage to the lungs, know the symptoms, treatment and prevention measures.

National Dengue Day 2018: Misconception About Dengue And Its Reality -  National Dengue Day 2018: जानें क्या हैं डेंगू से जुड़ी भ्रांतियां और  हकीकत..

डेंगू में पैरासिटामोल फायदेमंद

डॉक्‍टर कहते हैं कि डेंगू के बुखार में पैरासिटामोल दवा फायदेमंद है. इसके अलावा दूसरी मेडिसिन लेने से बचना चाहिए. डेंगू में किसी भी प्रकार की पेन किलर बिलकुल न लें. इससे इंटरनल ब्लीडिंग का खतरा हो सकता है, पैरासिटामोल का यूज भी डॉक्टर की सलाह के हिसाब से करें।

“स्‍वास्‍थ्‍य” से जुडी जानकारी के लिए हमारे पेज betultalks.com को फॉलों व शेयर करें –

Yoga Tips : पेट की चर्बी के साथ दिमाग भी होगा तीज, इन 5 योगासन से करें दिन की शुरुआत

Blood Cancer : ये लक्षण दिखें तो फौरन जाइए डॉक्टर के पास