Betul Samachar : बोर्ड का पेपर बिगड़ने से 12वी की छात्रा ने लगाई फाँसी

बैतूल टॉक्स / आज के समय में तनाव सबसे बड़ी समस्या है या इसे बीमारी भी काहे तो ग़लत नहीं होगा छोटी से लेकर बड़ी उम्र वाले हमेशा तनाव में


रहते है चाहे वो किसी भी करण से क्यू ना हो पर तनाव के चलते व्यक्ति क्या कुछ कर लेता है ये उसे उस समय समझ नहि आता हम बात कर रहे है मप्र के बैतूल ज़िले के मुलताई – मासोद चौकी अंतर्गत ग्राम गंगापुर में कक्षा 12 वीं की छात्रा पेपर बिगडऩे से तनाव में आकर फांसी के फंदे पर झूल गई जिससे उसकी मौत हो गई।
प्राप्त जानकारी के अनुसार अश्विनी पिता दीपक अंबुलकर उम्र 16 वर्ष निवासी वलनी आठनेर ने अपने नाना के घर गंगापुर में फांसी लगा ली।


फांसी लगाने का कारण पेपर बिगडऩे से तनाव होना बताया जा रहा है।
हालांकि छात्रा के पास से कोई सोसाइट नोट नही मिला है। पुलिस द्वारा मार्ग कायम कर पूरे मामले की जांच की जा रही है।
बताया जा रहा है कि मृतिका अश्विनी अपने नाना नामदेव बोरकर के पास गंगापुर में रहकर पढ़ रही थी। फिलहाल उसकी परीक्षा चल रही थी जिसमे 10 मार्च को जीव विज्ञान विषय का पेपर था जिसके बाद वह तनाव में चल रही थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पेपर बिगड़ने से वह परेशान थी जिसके बाद मंगलवार शाम 6 से 7 बजे के बीच घर में कोई नही था इसी दौरान उसने फांसी लगा ली जिससे उसकी मौत हो गई। सूचना पर पुलिस चौकी प्रभारी बसंत आहाके, प्रधान आरक्षक देवेंद्र प्रजापति, शिवराम परते एवम मेहमान सिंह ने मौके पर पहुंचकर पंचनामा कर शव को पीएम के लिए भेजा है। चौकी प्रभारी बसंत आहके ने बताया कि मर्ग कायम कर जांच में लिया गया है।