Betul News : हरदा के साथ बैतूल का भी ख्याल रखते कमल पटेल


जिला अस्पताल में मेमोग्राफी मशीन दिलाने में दिया बड़ा योगदान


बैतूल। कैंसर एक ऐसी बीमारी है कि अगर समय रहते जांच में आ जाए तो उपचार संभव हो जाता वरना यह बीमारी जानलेवा बन जाती है। कैंसर की बीमारी में महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर की शिकायत ज्यादा देखने को मिल रही हैं। लापरवाही के कारण या जिले में संसाधनों की कमी के कारण इस बीमारी की जांच नहीं हो पाती थी। कैंसर बीमारी को डिटेक्ट करने के लिए लंबे समय से संतुलन संस्था द्वारा जिला अस्पताल में मेमोग्राफी मशीन की उपलब्धता के लिए पहल की जा रही थी। जिला अस्पताल को यह मशीन दिलाने के लिए जनप्रतिनिधियों द्वारा भी खासे प्रयास किए गए। इसी के तहत मध्यप्रदेश के कृषि कल्याण मंत्री कमल पटेल का भी विशेष योगदान रहा है। इससे यह लगता है कि कमल पटेल अपने गृह जिले के हरदा के अलावा बैतूल पर भी विशेष स्नेह रखते हैं।


कैंसर शिविर में कृषि मंत्री ने की थी घोषणा
जिला मुख्यालय पर 12 नवम्बर को स्व. श्रीमती मधुलिका गर्ग अग्रवाल की स्मृति में नि:शुल्क जांच, उपचार एवं जागरूकता कैंसर शिविर का आयोजन किया गया था। इस शिविर में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने मंच से मेमोग्राफी मशीन जिला अस्पताल को उपलब्ध कराने की घोषणा की थी। श्री पटेल के प्रयास रंग लाए और बैतूल जिला अस्पताल के लिए मेमोग्राफी मशीन की स्वीकृति मिल गई है। इस मशीन के लिए स्थानीय स्तर पर भी भाजपा विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे द्वारा प्रयास किए गए थे। दोनों जनप्रतिनिधिद्वय के विशेष प्रयासों के चलते जिला अस्पताल को यह सौगात आगामी दिनों में मिलने का रास्ता साफ हो गया है।


इतनी जरूरी थी मेमोग्राफी मशीन
संतुलन समिति के द्वारा आयोजित नि:शुल्क कैंसर, जांच, उपचार एवं जागरूक शिविर में हर साल मुम्बई मेमोग्राफी मोबाइल वेन आती है। इसको लेकर संस्था के अध्यक्ष मोहित गर्ग ने बताया कि पिछले साल 122 महिलाओं ने मेमोग्राफी मोबाइल वेन में जांच कराई थी जिसमें 24 महिलाओं को फस्र्ट स्टेज का ब्रेस्ट कैंसर पाया गया था। इसके साथ ही इस साल 56 महिलाओं ने जांच कराई थी जिसमें 5 महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर फस्र्ट स्टेज का डिटेक्ट हुआ था। श्री गर्ग ने बताया कि इन महिलाओं का तत्काल उपचार शुरू हो गया जिसके कारण पिछले साल की सभी 24 महिलाएं इस जानलेवा गंभीर बीमारी से बच गई हैं वहीं इस साल की 5 महिलाओं का उपचार भी शुरू हो गया है।


कैंसर फाइटर दुबे ने माना आभार
कैंसर के खिलाफ लंबे समय से लड़ाई लड़ रहे पूर्व हॉकी खिलाड़ी हेमंतचंद (बबलू) दुबे की कैंसर शिविर के आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। श्री दुबे का कहना है कि फस्र्ट स्टेज पर कैंसर डिटेक्ट होता है तो साधारण उपचार से भी व्यक्ति स्वस्थ्य हो सकता है। श्री दुबे ने बताया कि कैंसर शिविर में डिटेक्ट हुए स्वस्थ्य हो चुके मरीजों से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि इस मेमोग्राफी मशीन की जिले को कितनी अधिक आवश्यकता थी। मेमोग्राफी मशीन जिला अस्पताल में उपलब्ध कराने के लिए मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल, डॉ. योगेश पंडाग्रे सहित शिविर के समस्त आयोजकों का भी आभार मानते हुए श्री दुबे ने कहा कि इस मशीन का लाभ जिलेवासियों को मिलेगा जिससे अब बैतूल के लोग नागपुर-भोपाल जाने से बच जाएंगे।