Betul News : कंपनी को अभियुक्त बनाना आवश्यक सीएमडी को चेक बाउंस के आरोप से किया दोषमुक्त

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें


बैतुल टॉक्स (सुमित महतकर) आमला : चेक बाउंस के एक 6 साल पुराने मामले में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी रीना पिपलिया ने आर बी एन कंपनी के सीएमडी रामनिवास को चेक बाउंस के आरोप से दोषमुक्त कर दिया है आमला निवासी ललित सोनी जो 6 वर्ष पहले आर बीएन कंपनी में नौकरी करते थे उनके द्वारा आरबीएन कंपनी के सीएमडी रामनिवास के विरुद्ध 473138 रुपए के चेक बाउंस का परिवाद न्यायिक मजिस्ट्रेट आमला के न्यायालय में पेश किया गया था आरोपी के वकील राजेंद्र उपाध्याय ने बताया की रामनिवास पाल के विरुद्ध ललित सोनी ने स्वयं के वेतन के ₹42000 एवं अन्य खातेदारों के ₹383138 के बकाया धनराशि की वसूली के एवज में कंपनी के सीएमडी के विरुद्ध परिवाद प्रस्तुत किया था जिसकी सूचना अभियुक्त रामनिवास को विधिवत तरीके से प्राप्त नहीं हुई थी अभियुक्त रामनिवास अन्य मामले में लगभग 3,4 वर्ष से जेल में हैं

रामनिवास ने यह चेक किसी भुगतान के एवज में ललित सोनी को प्रदान नहीं किया था परिवादी द्वारा यह भी संदेह से प्रमाणित नहीं किया है कि खातेदारों द्वारा उनकी धनराशि की वसूली के लिए ललित सोनी को अधिकृत किया गया हो ऐसी कोई दस्तावेज साक्ष्य परिवादी न्यायालय में प्रस्तुत नहीं कर पाया तत समय रामनिवास और ललित सोनी आर बीएन कंपनी में साथ काम करते थे और वित्तीय लेनदेन में शाखा में रखे चेक को बाउंस कर अभियुक्त के विरुद्ध गलत आधार पर यह चेक बाउंस का प्रकरण प्रस्तुत किया गया था न्यायालय द्वारा सभी तथ्यों की जांच के उपरांत यह पाया गया कि अभियुक्त को विधिवत मांग की चेक धनराशि की सूचना प्राप्त नहीं हुई है प्रस्तुत चेक आर बीएन कंपनी का है ललित सोनी द्वारा कंपनी के विरुद्ध परिवाद प्रस्तुत नहीं किया गया है केवल सीएमडी के विरुद्ध परिवाद प्रस्तुत किया है जबकि यह लेनदेन कंपनी के साथ होता है तो कंपनी को अभियुक्त बनाना आवश्यक था ऐसी स्थिति में प्रथम दृष्टया परिवाद चलने योग्य ही नही है आरोपी रामनिवास को सभी आरोपों से न्यायालय द्वारा दोष मुक्त कर दिया गया है

न्यूज़ को शेयर करने के नीचे दिए गए icon क्लिक करें

Related Articles

Back to top button