Benefits Of Vitamin : मजबूत हड्डियों के लिए कैल्शियम ही नहीं बल्कि ये विटामिन भी हैं जरूरी

Benefits Of vitamin D :- अधिकतर लोगों को यह गलत फहमी रहती है कि हड्डियों की मजबूती के लिए कैल्शियम का सेवन हमारे शरीर के लिए काफी होता है, लेकिन हम आपको बता दें कि विटामिन डी एक ऐसा सोर्स है, जो हड्डियों को मजबूत रखने और प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर रखने के लिए सबसे जरूरी तत्‍वों में से एक माना जाता है। यही नहीं, इसके अलावा भी कई अन्‍य फायदे भी हमारे शरीर को मिलते हैं। रिर्पोट के अनुसार, मानव शरीर ”विटामिन डी” की पूर्ति सूरज की किरणों से पूरा करता है, जबकि कुछ ऐसे खाने की चीजें भी हैं जिसकी मदद से आप विटामिन डी की कमी को दूर कर सकते हैं, आज आपको बताएंगे कि हड्डियों के साथ विटामिन डी शरीर के लिए कैसे बेहद जरूरी है।

Include these things in the diet to strengthen bones | हड्डियों को मजबूत  करने डाइट में शामिल करें ये चीजें, नहीं तो खोखला हो जाएंगी

हड्डियों के लिए बेहद जरूरी है विटामिन D – कई शोध में ये पाया गया है कि शोध में यह बात साबित हो चुकी है, कि हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए कैल्शियम के साथ-साथ विटामिन डी की कमी को दूर करना बहुत जरूरी होता है, इसकी कमी होने से शरीर में कैल्शियम का अवशोषण नहीं हो पाता और आयु से पहले हड्डियां कमजोर होने लगती हैं।

These Foods Full Fill The Requirement Of Vitamin D In Your Body - Health  Tips: शरीर में इस विटामिन की कमी से होती है हड्डियों की बीमारी, आज से ही  इसे अपने

Skin Care Tips : चावल के आटे का स्क्रब त्वचा पर लाता है चमक, ऐसे करें इस्तेमाल

बच्चों को हो सकती है यह परेशानी – बच्चों में विटामिन डी की कमी से रिकेट्स हो सकता है, जिससे हड्डियां नरम होने लगती हैं और पैरों में गांठ जैसी समस्या हो सकती है। इसी तरह, वयस्कों में, विटामिन डी की कमी ऑस्टियोमलेशिया या हड्डियों के नरम होने वाली समस्‍या को बढ़ा सकता है।ऑस्टियोमलेशिया के परिणामस्वरूप हड्डियों का घनत्व कम होता है और मांसपेशियां भी कमज़ोर हो जाती हैं. जिससे फ्रैक्चर होने की संभावना बहुत ज्यादा होती है।

The risk of osteoporosis increases with every decade of age know how to  prevent it | आपको भी हो सकती है ये खतरनाक बीमारी, खोखली हो जाएंगी हड्डियां;  ऐसे करें बचाव | Hindi News, लाइफस्टाइल

इम्‍यूनिटी के लिए भी रामबाण- विटामिन डी का पर्याप्त सेवन करने से आपकी इम्‍यूनिटी बेहतर रहती है और और ऑटोइम्यून बीमारियों के जोखिम को कम कर सकता है, शोधकर्ताओं में यह पाया गया है कि विटामिन डी प्रतिरक्षा कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और लंबे समय तक विटामिन डी की कमी, आगे चलकर मधुमेह, अस्थमा और ऑटोइम्यून जैसे विकार हो सकते हैं।

हड्डी या कंकाल समारोह से परे विटामिन डी का महत्व

विटामिन डी के सोर्स – विटामिन डी का सबसे बड़ा सोर्स सूरज की किरणें हैं, लेकिन विटामिन डी की कमी को दूर करने के लिए हमे डाइट में इसे शामिल करना भी बहुत जरूरी होता है। इसके लिए आप वसायुक्त मछली, जैसे सैल्मन, मैकेरल और ट्यूना, अंडे, पनीर, बीफ लीवर, चीज, मशरूम, पाश्चराइज्ड दूध को डाइट में शामिल करें। इसके अलावा, आप चिकित्‍सक की सलाह पर विटामिन डी सप्‍लीमेंट लें जो तेजी से शरीर में विटामिन डी की कमी को दूर करने का काम करता है।

ऐसी ही जीवनशैली से संबंधित पोस्‍ट पढने के लिए हमारी वेबसाईट betultalks.com को फालों व शेयर करें –

Health Tips : घरेलू नुस्खा आजमाते ही छूमंतर हो जाएगा सिरदर्द, आजमाएं ये तरीके

Beauty Tips : रक्षाबंधन पर खूबसूरत दिखना चाहते हैं तो अपनाएं ये टिप्स